देश

अब केरल में फ्री कोरोना वैक्सीन का ऐलान, चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का लगाया आरोप

नई दिल्ली 
 केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजनय के मुफ्त में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने वाले बयान को लेकर विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग का रुख किया है. यूडीएफ और भाजपा ने रविवार को राज्य चुनाव आयोग के पास इस बात का विरोध दर्ज कराया.

विपक्षी दलों का कहना है कि मुख्यमंत्री का यह बयान चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है. यह एलान ऐसे समय पर किया गया है जब चार उत्तरी जिलों में 14 दिसंबर को अंतिम चरण के निकाय चुनाव होने वाले हैं. विपक्षी दलों का कहना है कि यह बयान जल्दबाजी में दिया गया है और चुनाव से पहले वोटरों को लुभाने की कोशिश है.

वहीं,इन आरोपों पर राज्य सरकार पर प्रतिक्रिया देते हुए इसे बचकाना कहा है. राज्य सरकार का कहना है कि मुख्यमंत्री पिनराई विजयन एक पत्रकार के सवाल का जवाब दे रहे थे. फ्री वैक्सीन पार्टी के मैनिफेस्टो में भी है. शनिवार को विजयन ने कहा था कि राज्य में सभी को कोरोना वैक्सीन निशुल्क दी जाएगी. किसी से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा. वैक्सीन वितरण को लेकर सरकार का यही मत है. बता दें कि राज्य में तीन चरण में निकाय चुनाव हो चुके हैं. अंतिम चरण का मतदान होना है. पहले और दूसरे चरण का मतदान 8 और 10 दिसंबर को हुआ था.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी जोसेफ ने भी मुख्यमंत्री की इस घोषणा को लेकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराई है.कांग्रेस नीत यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) के संयोजक एमएम हसन का कहना है कि गठबंधन ने मुख्यमंत्री के बयान के संबंध में शिकायत दर्ज कराई है. यह घोषणा चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है.

बीजेपी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने भी सीएम विजयन के बयान पर आपत्ति दर्ज कराई है. उनका कहना है कि सीएम विजयन चुनाव के बीच ऐसे बयान से वोटरों को लुभाने का प्रयास कर रहे हैं. 

बता दें कि केंद्र ने मंगलवार को कहा कि भारत बायोटेक, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और फाइजर द्वारा विकसित तीन COVID-19 वैक्सीन को लेकर चर्चा की जा रही है. उम्मीद है कि जल्दी ही इन्हें इस्तेमाल की अनुमति मिल जाएगी.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close