देश

अमेरिका ने H1B वीजा का सस्पेंशन बढ़ाया, भारत को झटका

नई दिल्ली
अमेरिका में काम करने की इच्छा रखनेवाले भारतीयों को डॉनल्ड ट्रंप सरकार ने बड़ा झटका दिया है। ट्रंप ने H1B के साथ-साथ अन्य तरह के कामकाजी वीजा का सस्पेंशन फिलहाल इस साल के अंत तक के लिए आगे बढ़ा दिया है। मिली जानकारी के मुताबिक, अमेरिका की ट्रंप सरकार ने H1B, L1 और अन्य अस्थाई कामकाजी वीजा को सस्पेंड कर दिया है। यानी जिन आईटी वाले लोगों का H1B वीजा अप्रैल लॉटरी में अप्रूव हो गया था उन्हें भी अब आने की इजाजत नहीं होगी।

सुंदर पिचाई से लेकर सोशल मीडिया पर ज्यादातर लोग खिलाफ
ट्रंप सरकार के इस फैसले पर लोग आपत्ति जता रहे हें। यहां तक कि गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने भी ट्रंप प्रशासन के इस फैसले को गलत बताया (Sundar Pichai on visa ban) है। उन्होंने कहा कि इमिग्रेशन की वजह से अमेरिका को इतना फायदा हुआ है। इसकी वजह से वह ग्लोबल टेक लीडर बना। पिचाई ने लिखा कि वह आज के आर्डर से निराश हैं।

अमेरिका के कुछ नेताओ ने भी इसे गलत बताया। डिक डर्बिन ने लिखा कि यह गलत तरीका है। इसमें H1B में बदलाव करने हैं न ही इसे खत्म करना है। ट्विटर पर एक ने कहा कि ट्रंप सरकार को समझना चाहिए कि यह वीजा अमेरिका की कमजोरी नहीं ताकत है, क्योंकि इससे उसे कुशल काम करनेवाले मिलते हैं। दूसरे शख्स ने लिखा कि ट्रंप चाहकर भी भारतीयों की जगह बेरोजगार अमेरिकों को वहां नहीं रख सकते क्योंकि वे लोग वे काम नहीं कर सकते।

बता दें कि ट्रंप के इस ताजा फैसले का असर उनपर नहीं होगा जिनके पास पहले से यूएस का वीजा है। अमेरिकी सरकार का कहना है कि इन वीजा पर लगी अस्थाई रोक की वजह से अमेरिका में 5.25 लाख नौकरियों की जगह खाली रहेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close