विदेश

आतंकी ओसामा बिन लादेन को इमरान खान ने बताया शहीद 

इस्लामाबाद
आतंकवाद के खात्मे को लेकर पाकिस्तान का क्या रुख है यह प्रधानमंत्री इमरान खान के देश की संसद में दिए बयान से साफ हो रहा है। दुनियाभर में खूंखार आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले अल-कायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को खान ने 'शहीद' करार दिया है। खान ने यह बयान ऐसे वक्त में दिया है जब पहले ही अंतरराष्ट्रीय मंच पर आतंकवाद के खिलाफ कोई कदम न उठाने और आतंंकी संगठनों को पनाह देने का आरोप उस पर लग रहा है।

'इस्लामाबाद को बिना बताए ओसामा को किया शहीद'
इस्लामाबाद में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अल-कायदा सरगना और खूंखार आतंकवादी ओसामाबिन लादेन को संसद में 'शहीद' करार दिया है। यही नहीं, खान ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ जंग में अमेरिका का साथ नहीं देना चाहिए था। अमेरिका पर बरसते हुए खान ने कहा कि अमेरिकी फोर्सेज ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन को 'शहीद' कर दिया और पाकिस्तान को बताया भी नहीं और इसके बाद पूरी दुनिया पाकिस्तान की ही बेइज्जती करने लगी।

'पाकिस्तानियों को उठानी पड़ी जिल्लत'
खान ने कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिका की आतंकवाद के खिलाफ जंग में अपने 70 हजार लोगों को खो दिया। खान ने कहा कि जो पाकिस्तान देश से बाहर थे, इस घटना की वजह से उन्हें जिल्लत का सामना करना पड़ा। 2010 के बाद पाकिस्तान में ड्रोन अटैक हुए और सरकार ने सिर्फ निंदा की। उन्होंने कहा कि जब अमेरिका के ऐडमिरल मलन से पूछा गया कि पाकिस्तान पर ड्रोन हमले क्यों किए जा रहे हैं, तो उन्होंने कहा कि सरकार की इजाजत से यह कार्रवाई की जा रही है।

पहले भी दिखा चुके हैं नरम दिल
ऐसा पहली बार नहीं है जब इमरान खान ने ऐसा विवादित बयान दिया है। ओसामा को लेकर भी वह नरम रवैया अपनाते दिखे हैं। उन्होंने कई मौकों पर उसे आतंकी मानने से इनकार किया है। वह तालिबानी लड़ाकों को 'भाई' तक बता चुके हैं। पहले की सरकारों के दौरान वह ड्रोन हमलों की खुलकर निंदा कर चुके हैं और उनका कहना था कि अगर ड्रोन हमले बंद हो जाएं तो तालिबानी गतिविधियां भी बंद हो जाएंगी।
 
FATF, अमेरिका ने आतंकवाद पर घेरा
खान का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने बुधवार को फैसला किया है कि पाकिस्तान को फिलहाल ग्रे लिस्ट में ही रखा जाएगा क्योंकि वह लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों को पहुंचने वाली फंडिंग पर नकेल नहीं कस पाया है। वहीं, अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट की 'कंट्री रिपोर्ट्स ऑन टेररिज्म' में साल 2019 में भी कहा गया है कि भारत को निशाना बना रहे लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे संगठनों को पाकिस्तान ने अपनी जमीन से ऑपरेट करने दिया। पाकिस्तान में जैश के संस्थापक मसूद अजहर और 2008 के मुंबई धमाकों के 'प्रॉजेक्ट मैनेजर' साजिद मीर जैसे किसी आतंकी आजाद घूम रहे हैं।
 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close