ग्वालियरमध्यप्रदेश

एक्टिव कन्टेनमेंट एरिया का शत्प्रतिशत सर्वे हो, मुरैना में चल रहे लाॅकडाउन का शक्ति से पालन हो

मुरैना
चंबल संभाग के कमिश्नर श्री रवीन्द्र कुमार मिश्रा ने चंबल संभाग के तीनों जिले मुरैना, भिण्ड और श्योपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिये है कि एक्टिव कंटेनमेंट एरिया का सबसे पहले सर्वे किया जाये। सर्वे पूरी तरह से शत्प्रतिशत हो। अगर सर्वे में लापरवाही होगी तो पुनः सर्वे करना पड़ेगा और सर्वे में लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाही भी होगी। चंबल कमिश्नर श्री मिश्रा बुधवार को अपने सभाकक्ष में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की योजनाओं के तहत मुरैना जिले में बढ़ रहे कोरोना मरीजों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में अपर आयुक्त श्री अशोक कुमार चैहान, संयुक्त आयुक्त विकास श्री राजेन्द्र सिंह, तीनों जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।  

चंबल कमिश्नर श्री मिश्रा ने मुरैना, भिण्ड में बढ़ रहे कोरोना पाॅजीटिव मरीजों के प्रति चिन्ता व्यक्त करते हुये कहा कि संभाग के सभी नोटिफाइड़ 482 कंटेनमेंट एरिया का शत्प्रतिशत सर्वे हो। इनमें से एक्टिव 331 कंटेनमेंट एरिया में सबसे पहले सर्वे हो। उन्होंने कहा कि सर्वे के दौरान लिये जाने वाले सैम्पलों से कोरोना पाॅजीटिवों की संख्या बढ़ेगी लेकिन बाद में धीरे-धीरे यह संख्या कम होती जायेगी। उन्होंने कहा कि किल कोरोना अभियान में जो टीम लगी है, उसी टीम को सर्वे में भी लगायें। कमिश्नर ने कहा कि मुरैना में लगाये गये लाॅकडाउन को और शक्ति से लागू करने की जरूरत है।

उन्हांेने कहा कि भिण्ड और श्योपुर में भी अगर लाॅकडाउन की जरूरत हो तो जरूर लगाये, अगर जरूरत नहीं है तो शनिवार एवं रविवार को दोेंनो जिलों में पूरी तरह से लाॅकडाउन करना सुनिश्चित करंें। उन्होंने आईसोलेशन वार्डों की समीक्षा करते हुये कहा कि ऐसे छात्रावासों, आश्रमों को चिन्हित करें, जहां मरीजों को आईसोलेट किया जा सके। इसके लिये होटल भी किराये से ले सकते है। मुरैना जिले में एक हजार बैड की व्यवस्था करके रखें। उन्होंने कहा कि आईसोलेशन वार्डो में मरीजों को 10 दिन रखने के पश्चात् अगर  मरीज में काॅप्लीकेशन नहीं है तो उसे डिस्चार्ज कर होम क्वारंटाइन करने की सलाह दें।  

कमिश्नर ने कहा कि होम क्वारंटाइन किये गये लोंगो का भी पूरी गंभीरता के साथ सर्वे करें। उनकी खैर खबर भी लेते रहे। कहीं ऐसा न हो कि यह लोग सार्वजनिक स्थानों पर बैठकर कोरोना को बढ़ावा दे रहे हों। इन लोंगो के प्रति भी शक्ति बरते।

समीक्षा के दौरान बताया गया कि संभाग में 482 कंटेनमेंट एरिया है, इनमें सर्वाधिक 295 मुरैना में, भिण्ड में 141 और श्योपुर में 46 है। एक्टिव कंटेनमेंट एरिया 331 है। इनमें मुरैना में 245, भिण्ड में 75 और श्योपुर में 11 है। संभाग में 412 कंटेनमेंट एरिया ऐसे है, जहां से ये कोरोना पाॅजीटिव केश निकलें है, उनमें मुरैना में 264, भिण्ड में 75 और श्योपुर में 54 है।

मुरैना के 295 कंटेनमेंट एरिया में 90 हजार 480, भिण्ड के 141 कंटेनमेंट एरिया में 21 हजार 40 और श्योपुर जिले के 46 कंटेनमेंट एरिया में 9 हजार 379 जनसंख्या बताई गई है। जिसमें तीनों जिलों की संक्रमित क्षेत्र की आवासी 12 हजार 949 है और वर्तमान में सक्रिय संक्रमित क्षेत्र की कुल आवादी 39 हजार 481 है।

7 जुलाई को संभाग में 1 हजार 326 कोरोना पाॅजीटिव केशों में मुरैना जिले में 882, भिण्ड में 351 और श्योपुर जिले में 93 पाॅजीटिव मरीजों की स्थिति थी। कमिश्नर ने चैक पाॅइन्टों पर कोरोना जांच एवं बचाव की सामग्री रखने के भी निर्देश दिये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close