उत्तर प्रदेशराज्य

एक हजार ग्राम पंचायतों की आज आएगी आरक्षण लिस्ट 

 बदायूं  
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिये आरक्षण बुधवार तीन मार्च प्रत्याशियों का रास्ता साफ कर देगा। आरक्षण के बाद चुनावी महासंग्राम गांव-गांव शुरू हो जायेगा। भले  ही आचार संहिता बाद में लगे लेकिन अभी से चुनाव की तैयारी शुरू हो जायेगी। मंगलवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर जिला पंचायत राज विभाग से लेकर ब्लाकों और जिला प्रशासन ने तैयारी अपनी पूरी कर ली है। जिला पंचायत राज अधिकारी के अनुसार बुधवार तीन मार्च को आरक्षण जारी कर दिया जायेगा। ग्राम प्रधान, बीडीसी सदस्य, वार्ड सदस्य के साथ ही जिला पंचायत सदस्य और ब्लाक प्रमुक का भी आरक्षण आ जायेगा। जिसमें साफ हो जायेगा कि किस गांव में किस पद पर कौनसी सीट रहेगी।  बतादें कि बदायूं जिले में 1,037 ग्राम पंचायतों पर ग्राम प्रधान व बीडीसी सदस्य एवं ग्राम वार्ड सदस्य का चुनाव किया जायेगा। इसके अलावा 51 सीटों पर जिला पंचायत सदस्य का चुनाव होगाा। आरक्षण आने के बाद आज तय समय में आपत्ति का कार्य होगा। इसके बाद निर्वाचन आयोग से चुनाव के लिये आचार संहिता लग जायेगा। मंगलवार को दिन भर गांव-गांव चुनाव को लेकर लोग आरक्षण पर नजरें टिकाये रहे हैं। अन्य जिलों में सूची आने की वजह से लोग अपने-अपने गांव का आरक्षण जानने की कोशिश में लगे रहे हैं।

फर्जी सूची से रहे परेशान :

बदायूं  में मंगलवार को दिन निकलते से लेकर रात तक सभी भ्रमित रहे हैं। दिन भर जिले में फर्जी सूची सोशल मीडिया पर वायरल होती रही हैं, अधिकांश लोग इस सूची को अधिकृत मानते रहे जबकि किसी भी अधिकारी द्वारा जारी की गई सूची नहीं थी इसलिये अनाधिकृत थी। सभी लोग सूची को लेकर भ्रमित रहे हैं और एक-दूसरे से पूछते रहे हैं। 

ब्लाकों के अफसरों ने वायरल की सूची

पंचायत चुनाव को लेकर ग्राम प्रधान व बीडीसी, सदस्य, बार्ड सदस्य, जिला पंचायत सदस्य का आरक्षण आना है। मगर मंगलवार को सोशल मीडिया पर ग्राम प्रधान पद का आरक्षण आया भी नहीं और सूची वायरल कर दी गयी। इसको लेकर सभी परेशान हो गये। दावेदार ताल ठोंकर कहते रहे हैं आरक्षण की सूची यही है और यही आरक्षण रहेगा। दावेदारों ने तो यह भी नाम खोल दिया कि ब्लाकों के अफसरों ने कमेटी प्रोफार्मा हटाकर सूची वायरल की है। 

अफसर फोन से रहे परेशान

पंचायत चुनाव ने सबको सिरदर्दी दे दी है। डीएम से लेकर एडीओ और सचिव तक अभी से परेशान कर दिये हैं। ग्राम प्रधान से लेकर ब्लाक प्रमुख और जिंप सदस्य पद के लिये आरक्षण आने से पहले ही दावेदारों और नेताओं ने अफसरों के फोन आने शुरू हो गये हैं। प्रदेश के अन्य जिलों में आरक्षण जारी होने पर प्रत्याशी अधिकारियों से फोन करके बार-बार यही पूछते रहे कि आरक्षण कब आयेगा। डॉ. सरनजीत सिंह कौर, जिला पंचायत राज अधिकारी ने बताया कि प्रस्ताव तैयार हो गया है। मंगलवार को वायरल हुयी सूची अनाधिकृत हैं। तीन मार्च आरक्षण की सूची जारी होगी, सभी पद के सभी प्रत्याशी शांतिपूर्ण तरीके से सूची को देखें और आरक्षण को समझें। विवाद किसी भी तरह का न करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close