बिहारराज्य

एसकेएमसीएच में एक और एईएस पीड़ित भर्ती, अबतक 57 बच्चे चपेट में आये

 मुजफ्फरपुर 
                            
एसकेएमसीएच में मंगलवार को पूर्वी चंपारण के हनुमाननगर राजेपुर के डेढ़ वर्षीय आर्यन कुमार में एईएस की पुष्टि हुई है। सोमवार की देर रात को इस बीमार बच्चे को भर्ती कराया गया था। पीआईसीयू के एईएस वार्ड में उसका इलाज चल रहा है। बच्चे की जांच रिपोर्ट शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. गोपालशंकर सहनी ने अधीक्षक व अन्य वरीय अधिकारियों को दी है।

बताया कि प्रारंभिक जांच में पुष्टि के बाद देर रात को एईएस की श्रेणी में बच्चे को रखा गया। इलाज से उसमें आंशिक सुधार है। इधर, जूरनछपरा स्थित केजरीवाल अस्पताल में भर्ती कुढ़नी के एईएस पीड़ित बच्चे में सुधार है। उसका ब्ल्ड शुगर लेवल 25 से अधिक हो गया है।

इस वर्ष अबतक एसकेएमसीएच व केजरीवाल अस्पताल में उत्तर बिहार के 57 एईएस पीड़ित बच्चों का इलाज हुआ है। इसमें आठ बच्चे की मौत हो चुकी है। 
हालांकि स्वास्थ्य विभाग के रिकार्ड में मौत का आंकड़ा सात ही है। दरअसल, चमकी बुखार से पीड़ित व ब्लड शुगर कम होने से गंभीर हालत में शिवहर तरियानी प्रखंड के सोनवर्षा के 18 माह के दिलराय की मौत केजरीवाल अस्पातल से रेफर होने पर रास्ते में हो गई थी। एसकेएमसीएच में पीआईसीयू काउंटर पर ही इलाज के दौरान डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

मरने वाले बच्चों में चार मुजफ्फरपुर के हैं। एक समस्तीपुर, एक वैशाली व दो शिवहर के बच्चे शामिल हैं। अब तक इस साल मुजफ्फरपुर जिले में कुल 27 बच्चे एईएस से पीड़ित हुए हैं। इसी तरह पूर्वी चंपारण में 13, सीतामढ़ी के चार, शिवहर के छह, समस्तीपुर के एक, वैशाली के तीन व पश्चिमी चंपारण के तीन बच्चे में एईएस की शिकायत मिली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close