छत्तीसगढ़

कृषि उत्पादन आयुक्त ने गौठानों का किया भ्रमण,गौठान में चल रही गतिविधियों की सराहना की

मुंगेली
छत्तीसगढ़ शासन में कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ.एम.गीता ने विकासखंड पथरिया के ग्राम पीपरलोड़ और सल्फा में पशुधन के विकास और संवर्धन के लिए स्थापित गोठान का भ्रमण किया और वहां संचालित गतिविधियों का जायजा लिया। इस अवसर पर कलेक्टर पी.एस एल्मा भी मौजूद थे।

कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. गीता ने ग्राम पीपरलोड और सल्फा में स्थापित गोठान का भ्रमण करते हुए वहां गोबर खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने की विधि, वर्मी कम्पोस्ट खाद की विक्रय, पशुधन के लिए निर्मित जल पात्र (कोटना), शेड निर्माण, फेसिंग आदि के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होने गोठान में संचालित गतिविधियों पर अपनी प्रसन्ता व्यक्त की और गोठान में संचालित अन्य गतिविधियों के अलावा  स्व सहायता समूह के महिलाओं को आत्म निर्भर और स्वावलंबी बनने के लिए अन्य गतिविधियों मुगीर्पालन, बतखपालन, मशरूम उत्पादन, दोना-पत्तल बनाने आदि कामो पर भी ध्यान देने की बात कहीं। इस दौरान उन्होने पशुधन के चारे के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की भी जानकारी प्राप्त की और ग्रामीणों द्वारा स्वेच्छा ने की जा रही पैरादान की सराहना की। भ्रमण के दौरान उन्होने बाडी विकास योजना के भी विस्तार पूर्वक जानकारी प्राप्त की और अंतरिक्त आय बढाने के लिए बाड़ी विकास योजना के तहत सब्जी उत्पादन कार्य को बढावा देने की बात कहीं। भ्रमण के दौरान डॉ. गीता ने स्वच्छ भारत मिशन के तहत बॉयो गैस प्लांट के बारे में भी जानकारी प्राप्त की और शासन की गाईडलाईन के अनुसार बॉयो गैस प्लांट स्थापना के लिए आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर कलेक्टर एल्मा ने बताया कि गोधन न्याय योजना के तहत गोबर क्रय से लेकर अन्य गतिविधियों को मोबाईल एप्प के माध्यम से संचालित की जा रही है। गौठान में पशुधन के लिए नेपियर घास का उत्पादन किया जा रहा है। इसी तरह बाड़ी विकास योजना के तहत सब्जी की बाड़ी लगाई गई है। गौठान में पशुधन के लिए गांव वालों द्वारा स्वेच्छा से पैरादान भी किया जा रहा है। जिससे चारे की समस्या दूर हो गई है। इस दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close