देश

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा- अगले साल तक आ जाएगी वैक्सीन 

 
नई दिल्ली 

देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं. हर रोज 15 हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं और करीब 400 लोगों की मौत हो रही है. इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है. दुनिया के बाकी देशों के मुकाबले कोरोना को लेकर भारत का प्रदर्शन अच्छा रहा है. हमने टेस्टिंग बढ़ाई और मृत्यु दर भी भारत में कम है. उन्होंने कहा कि अगले साल तक कोरोना की वैक्सीन आ जाएगी. अन्य बीमारियों की तरह कोरोना भी रह जाएगा. लेकिन हमें अपनी जीवनशैली में बदलाव करना होगा.

खास बातचीत में डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि भारत में कोरोना का पहला केस 30 जनवरी को आया था. और भारत की आबादी 135 करोड़ है. 5 लाख केस में से 3 लाख 10 हजार केस तो ठीक होकर घर जा चुके हैं. उन्होंने कहा कि देश में 3 फीसदी मृत्यु दर है, जो सबसे कम है. भारत से ज्यादा अमेरिका, ब्राजील और यूके की मृत्यु दर है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हमने अपनी टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाया है. 4 से 5 महीने पहले जहां एक लैब थी और आज 1036 लैब में टेस्टिंग हो रही है. कल भी हमने 2 लाख 31 हजार टेस्ट किए. हम टेस्टिंग को प्रमोट कर रहे हैं, ताकि कोई भी पॉजिटिव व्यक्ति छूटना नहीं चाहिए.

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कई एक्सपर्ट्स ने कहा था कि भारत में अब तक 300 मिलियन केस होंगे. दुनिया के मुकाबले भारत में कम केस हैं और मृत्यु दर भी कम है. भारत से ज्यादा रिकवरी रेट सिर्फ रूस की है. हम बेहतर स्थिति में हैं. लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि वायरस समय-समय पर आते रहते हैं. चेचक और पोलियो ही ऐसे वायरस है जिनको जड़ से समाप्त किया गया. बाकी बीमारियों की तरह कोरोना वायरस भी बना रहेगा. इसके लिए भी वैक्सीन दी जाएगी. वायरस के कारण हमें अपने जीवनशैली में बदलाव लाना पड़ रहा है. दुनिया में सबसे ज्यादा अच्छा प्रदर्शन हमारा है.

वैक्सीन के सवाल पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इसकी खोज के लिए पूरी दुनिया काम कर रही है. भारत में भी इसकी खोज चल रही है. मुझे लगता है अगले साल वैक्सीन आ जाएगी. भारत भी लगातार प्रयास में लगा है और हम दुनिया के अन्य देशों से कम नहीं हैं.

बाबा रामदेव के दावे पर क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री
कोरोना की दवा को लेकर योग गुरु बाबा रामदेव के दावे पर डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर मैंने कोई उसका अध्ययन नहीं किया है. उनकी जो आयुर्वेदिक दवाइयां उसका अध्ययन करने वाला मंत्रालय भी दूसरा है. आयुष मंत्रालय इसका अध्ययन करता है. डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि जहां तक मुझे जानकारी है कि आयुष मंत्रालय ने बाबा रामदेव से सारी जानकारियां प्राप्त की हैं. बाबा रामदेव की दवा को लेकर सटीक बयान आयुष मंत्रालय ही दे सकता है. मंत्रालय जांच कर रहा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close