भोपालमध्यप्रदेश

कैबिनेट विस्तार: दिल्ली से सहस्त्रबुद्धे आज लाएंगे सूची

भोपाल। शिवराज कैबिनेट के विस्तार को लेकर चल रही अटकलों पर विराम लगता दिख रहा है। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व द्वारा मंत्री पद की शपथ लेने वाले विधायकों की सूची फाइनल करने के बाद पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे शपथ लेने वाले मंत्रियों की लिस्ट लेकर आज भोपाल आ रहे हैं। इसके बाद गुरुवार शाम को राजभवन में नए मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी। मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मीडिया से बहुत कुछ तो नहीं बोला, लेकिन उन्होंने इशारों-इशारों में सबकुछ कह डाला। उन्होंने कहा समुद्र मंथन में अमृत निकलता है, विष को शिव पी जाते हैं। इतना कहकर वे चुप हो गए। शिवराज के इस बयान से साफ है कि दिल्ली में जो सूची फाइनल हुई है, उसमें उन लोगों को स्थान नहीं मिल पाया है जो शिवराज सिंह के पिछली कैबिनेट में ताकतवर मंत्री रहे हैं। इसके अलावा मुख्यमंत्री की तरफ से जो नाम गए थे उसमें से कुछ को ही स्थान मिल पाया है। इस विस्तार में ज्योतिरादित्य सिंधिया कैम्प के दस पूर्व विधायकों को मंत्री बनाया जाएगा।

50-50 फार्मूला
भाजपा में नए लोगों को मंत्री बनाने का फार्मूला लागू कर रहे केंद्रीय नेतृत्व ने अबकी बार जद्दोजहद के उपरांत 50-50 का फार्मूला लागू करने का फैसला किया है। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय नेतृत्व ने तय किया है कि भाजपा के जो विधायक मंत्री बनेंगे उनमें पचास फीसदी ऐसे होंगे जो पहले मंत्री रह चुके हैं वहीं पचास फीसदी ऐसे विधायकों को मौका दिया जाएगा जो तीन से चार या अधिक बार के विधायक हैं लेकिन अभी तक मंत्री बनने का मौका उन्हें नहीं मिला है।   इसके भनक लगते ही कई विधायकों ने लॉबिंग करने के साथ संगठन पर दबाव बनाने का काम भी तेज कर दिया है।

निर्दलीय और बसपा की भी निगाहें
शिवराज कैबिनेट के विस्तार को लेकर निर्दलीय और बसपा के विधायकों की निगाहें भी पार्टी के फैसलों पर हैं। कमलनाथ सरकार के इस्तीफे के समय भाजपा संगठन ने बसपा विधायक रामबाई को मंत्री बनाने के लिए आश्वस्त किया था। ऐसा बयान रामबाई ने खुद दिया था जिसमें उन्होंने मंत्री पद का आफर मिलने की बात कही थी। बसपा के संजीव कुशवाह भी दावेदारी कर रहे हैं।  इसके अलावा निर्दलीय विधायकों प्रदीप जायसवाल समेत अन्य की भी निगाहें मंत्रिमंडल विस्तार पर हैं। उन्हें सूची का इंतजार है कि क्या भाजपा उन्हें भी समर्थन देने की बदौलत मंत्रिमंडल में स्थान देगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close