भोपालमध्यप्रदेश

कोरोना वायरस का अटैक इमरजेंसी सर्विसेज पर भी, भोपाल में 35 एम्बुलेंस कर्मचारी पोसिटिव

भोपाल
मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का अटैक इमरजेंसी सर्विसेज पर भी हुआ है. कोरोना के कारण 108 एम्बुलेंस की सर्विस भी प्रभावित हो रही है. राजधानी भोपाल में 35 एम्बुलेंस कर्मचारी कोरोना की गिरफ्त में आ चुके हैं. इसके बाद से 108 सेवा शहर में ठप्प हो गई है. मालूम हो कि 108 हेल्थ इमरजेंसी सर्विस है जिसे 24×7 जारी रखा जाता है, लेकिन स्टाफ के संक्रमित होने के कारण सेवाए प्रभावित हो रही है. दरअसल, राजधानी भोपाल की 108 सर्विस का एक कॉल सेंटर भोपाल के सी 21 मॉल में चलता है. कॉल सेंटर में काम करने वाले करीब 35 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

कर्मचारियों को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सभी को क्वारंटाइन कर दिया गया है. इसके बाद सेंटर में कॉल रिसीव करने के लिए लोग ही नहीं बचे हैं. कॉल लगाने पर ज्यादातर इंगेज टोन सुनाई देती है. राजधानी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है. होशंगाबाद रोड के सी- 21 मॉल में तीसरी बार में 15 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. अब यहां कोरोना से संक्रमित कर्मचारियों की संख्या 35 हो गई है. मॉल के थर्ड फ्लोर पर बने कॉल सेंटर को 10 जून से बंद कर दिया गया है.

बताया जा रहा है कि 11 जून की सुबह से कॉल सेंटर में डर के मारे कर्मचारी काम करने ड्यूटी पर नहीं पंहुचे. सुबह से बीमार और जरूरतमंद लोग 108 के कॉल सेंटर पर एंबुलेंस के लिए फोन लगाते रहे लेकिन नेटवर्क व्यस्त रहने के कारण कॉल रिसीव नहीं हुए. ऐसा कहा जा रहा है कि कंपनी के एक अधिकारी कुछ दिन पहले धार और इंदौर गए थे. वहां से लौटने के बाद वे क्वारंटाइन होने के बजाए सीधे काम पर आ गए. हालांकि जिगित्सा कंपनी की ओर से जारी बयान में ये कहा गया कि कॉल सेंटर को मॉल के अलावा तीन और जगहों पर संचालित किया जा रहा है. सेवाएं सुचारू रूप से चल रही हैं.

कोरोना संक्रमण में एमपी देश में अब 8वें स्थान पर आ गया है. प्रदेश में 10641 कोरोना पॉजिटिव केस हैं. सबसे ज्यादा कोरोना केस महाराष्ट्र में 1,04,568 इसके बाद तमिलनाडु में 42,687, दिल्ली में 38,958, गुजरात में 23,038, उत्तर प्रदेश में 13,118, राजस्थान में 12,401 और पश्चिम बंगाल में 10,698 कोरोना केस हैं. कोरोना संक्रमण के मामले में पूरे देश में मध्य प्रदेश में सबसे धीमी रफ्तार का दावा किया जा रहा है. एमपी की डबलिंग रेट 34.1 दिन है, जबकि देश की 18.4 दिन. गुजरात की 30.2 दिन, राजस्थान की 26.7 दिन, महाराष्ट्र की 21 दिन और उत्तर प्रदेश की 18.6 दिन है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close