इंदौरमध्यप्रदेश

क्या गद्दारी हुई, क्या सौदेबाजी हुई सब जानते हैं-कमलनाथ

उज्जैन
 मध्य प्रदेश  कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने उप चुनाव का बिगुल फूंक दिया है. उज्जैन में महाकाल के दर्शन के बाद धार के बदनावर में उन्होंने पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन किया. कमलनाथ ने कहा मैं ना मामा (mama) हूं, न टाइगर (tiger) हूं, न ही महाराज  हूं. मैं कमलनाथ हूं. प्रदेश की जनता तय करेगी कि कौन टाइगर है और कौन चूहा-बिल्ली.

विधानसभा की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (MP By Election) से पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी (PCC) चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ (Kamalnath) ने फिर महाकाल का आशीर्वाद लिया. वो उज्जैन आए. COVID-19 की गाइडलाइन के मुताबिक गर्भगृह के बाहर से ही महाकाल के दर्शन किए और फिर यहां से धार के बदनावर रवाना हो गए, जहां विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है. मध्य प्रदेश की राजनीति में इन दिनों छाए टाइगर (Tiger) के मुद्दे पर कमलनाथ बोले-कौन टाइगर और कौन चूहा-बिल्ली, जनता सब जानती है.

क्या गद्दारी हुई, क्या सौदेबाजी हुई सब जानते हैं
उज्जैन में महाकाल के दर्शनों के बाद उन्होंने मीडिया को भी संबोधित किया। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मैं आज महाकाल का आशीर्वाद लेने आया था। मध्यप्रदेश की जनता को, किसानों को, नौजवानों को आशीर्वाद मिल। मुझे भी आशीर्वाद मिले। मध्यप्रदेश का भविष्य ने, विकास का नया नक्शा बनें यह मेरी प्रार्थना है। कमलनाथ ने अपनी रणनीति के बारे में कहा कि हमारी कोई रणनीति नहीं है। जनता समझदार है। प्रदेश के लोग सीधे-साधे और भोलेभाले हैं। वे जानते हैं कि क्या गद्दारी हुई, क्या सौदेबाजी हुई। वे जानते हैं कि मध्यप्रदेश किस पटरी पर आगे चल रहा था, कैसे मध्यप्रदेश को एक नई दिशा मिली। मुझे पूरा विश्वास है कि प्रदेश की जनता हमारा पूरा साथ देगी।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज बदनावर में कांग्रेस के सम्मेलन से पहले उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर दर्शन के लिए पहुंचे. यहां पर उन्होंने दर्शन कर भगवान महाकाल (Lord Mahakal) का आशीर्वाद लिया और मीडिया से बात भी की. टाइगर के मुद्दे पर कहा- कौन टाइगर कौन बिल्ली है और कौन चूहा है, जनता सब जानती है. वो कभी टाइगर बन जाते हैं. कभी यह बन जाते हैं कभी वह बन जाते हैं. इसका मतलब असली बात जनता तक नहीं जा पा रही. टाइगर कहकर गुमराह किया जा रहा है. लेकिन जनता समझदार है. कौन टाइगर है, कौन हाथी है, कौन बिल्ली है, कौन चूहा है, ये सब जनता के सामने है.

मध्य प्रदेश के लिए महाकाल से कामना

पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा मैं यहां महाकाल का आशीर्वाद लेने आया था. मध्य प्रदेश के किसानों को, मध्य प्रदेश की जनता को आशीर्वाद मिले, मुझे आशीर्वाद मिले, मध्य प्रदेश का भविष्य सुरक्षित रहे, यही कामना महाकाल से की है. उन्होंने कहा मध्य प्रदेश की जनता सीधी-सादी और समझदार है. वह जानती है कांग्रेस सरकार गिराने के लिए मध्य प्रदेश में क्या-क्या गद्दारी हुई है और क्या सौदा हुआ. ये सब जनता के सामने है. जनता जानती है कि हमारी सरकार में किस पटरी पर मध्यप्रदेश आगे चल रहा था किस तरह से मध्य प्रदेश को नई दिशा मिली थी. विकास को गति मिली थी.

कमलनाथ ने भरोसा जताया कि प्रदेश में फिर जनता हमारा साथ देगी और कांग्रेस की सरकार बनेगी. कमलनाथ ने कहा-15 साल की बीजेपी और शिवराज सरकार के दौरान किए गए भ्रष्टाचार का पर्दाफाश मेरी सरकार ने किया था. वो हम पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हैं. बीजेपी मेरे 15 महीने के कार्यकाल की जांच कराना चाहे तो करा ले, मैं स्वागत करता हूं.

विधायक की धमकी

इधर, कमलनाथ के महाकाल मंदिर में दर्शन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं का हुजूम मंदिर में उमड़ पड़ा. वो मंदिर में प्रवेश करना चाहते थे. लेकिन सुरक्षा गार्ड्स ने कोरोना के कारण एहतियात के तौर पर गेट बंद कर दिया था. कांग्रेस के घटिया विधानसभा क्षेत्र से विधायक रामलाल मालवीय ने पुलिसकर्मियों से अभद्रता भी और अपशब्द कहते हुए सरकार आने पर देख लेने की धमकी तक दे डाली. वो नहीं मानें और गेट खोलने पर अड़े रहे. गेट खुलते ही पूरी भीड़ मंदिर में घुस गई.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close