क्रिकेटखेल

क्यों एबी डिविलियर्स को संन्यास से वापसी के लिए नहीं कहा: फैफ डुप्लेसी 

नई दिल्ली 
दक्षिण अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने जब 2018 में इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास लिया तो यह सबके लिए बड़ा झटका था। डिविलियर्स के इस तरह रिटायरमेंट लेने से दक्षिण अफ्रीका की टीम को 2019 के विश्व कप से पहले बड़ा झटका लगा था। उनकी कमी आज भी टीम में  बनी हुई है। फैफ डुप्लेसी और एबी डिविलियर्स ने 1998 में 16 दिन के लिए रूम शेयर किया था। यही वजह है कि जब डिविलियर्स ने संन्यास लिया तो उन्हें डुप्लेसी ने नहीं रोका। फैफ डुप्लेसी ने रविचंद्रनअश्विन के यूट्यूब चैनल पर कहा, ''एबी के जाने के बाद मेरे लिए बहुत मुश्किल था, क्योंकि मैं उन पर बहुत निर्भर था। एक दोस्त के रूप में, अच्छे खिलाड़ी के रूप में, हमें उनके कौशल  की जरूरत थी। उन्होंने मुझे बताया कि उसने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट छोड़ने का मन बना लिया है। दोस्त के रूप में मैंने उससे कहा कि मैं उनके साथ हूं, मैं तुम्हें सपोर्ट करूंगा।'' उन्होंने आगे बताया, ''मैंने एबी से कहा कि यदि तुमने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर को विराम देने का फैसला कर लिया है, तो वह करो जो तुम चाहते हो। मैंने 100 फीसदी उनके फैसले का समर्थन किया।'' पिछले साल विश्व कप के दौरान यह विवाद उठा कि शायद वह संन्यास से वापसी कर सकते हैं, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट प्रबंधन, प्रमुख कोच ओटिस गिब्सन और कप्तान डुप्लेसी ने इससे इंकार कर दिया। हालांकि, संन्यास के समय डुप्लेसी भी चाहते थे कि डिविलियर्स खेलते रहें। 

फैफ डुप्लेसी ने कहा, ''एक कप्तान के रूप में मैं उसे पसंद करता था। हम उनके बिना कैसे आगे बढ़ सकते थे। टीम पहले की तरह कैसे परफॉर्म कर सकती थी। लेकिन मेरे भीतर के कप्तान को दोस्त ने हरा दिया और मैंने कहा कि निश्चित रूप से हम तुम्हें मिस करेंगे।'' उन्होंने आगे कहा, ''उस वक्त एबी ने कहा था कि वह पक्के तौर पर अंतरराष्ट्रीय करियर से संन्यास लेना चाहते हैं, इसलिए वह ऐसा कर रहे हैं। मैंने उनके फैसले का सम्मान किया, और बात वहीं खत्म कर दी। उसके बाद मैंने कभी उन्हें वापसी के लिए नहीं कहा क्योंकि डिविलियर्स ने जो कहा था मैं उसका सम्मान करता था। जब हमें उनकी सबसे ज्यादा जरूरत थी तब भी मैं एबी को वापसी के लिए नहीं कहा।''

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close