देश

खुफिया एजेंसियों ने 50 चीनी एप को बताया खतरनाक, अब कर सकते हैं इन सुरक्षित ऐप्स का इस्तेमाल

नई दिल्ली
भारतीय खुफिया एजेंसियों द्वारा 50 से अधिक चाइनीज ऐप्स को लाखों की तादाद में इनका इस्तेमाल कर रहे भारतीय उपयोगकतार्ओं की सुरक्षा और गोपनीयता के लिहाज से खतरनाक बताए गए हैं। हालांकि इसमें घबराने या निराश होने वाली कोई बात नहीं है क्योंकि इनके कुछ सुरक्षित विकल्प मौजूद हैं, जिनका उपयोग रोजमरार् की जिंदगी में किया जा सकता है। टिकटॉक की जगह पर शेयर चैट का इस्तेमाल किया जा सकता। यह भी एक शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप है। इसके साथ ही आप इसके प्लेटफॉर्म पर अन्य यूजर्स संग बात भी कर सकते हैं। वर्तमान में शेयरचैट में 15 विभिन्न भारतीय भाषाओं में छह करोड़ से अधिक मासिक सक्रिय उपयोगकतार् हैं। अगर आपको गेमिंग पसंद है, तो फोर्टनाइट को पबजी मोबाइल का एक ठोस विकल्प माना जा सकता है। बहरहाल पबजी पीसी को एक कोरियाई कंपनी पबजी कॉपोर्रेशन द्वारा विकसित किया गया है, लेकिन इस गेम के मोबाइल वर्जन को चीन में स्थित टेनसेंट द्वारा विकसित किया गया है। 

चीनी ऐप शेयरइट ऑफलाइन फाइल साझा करने का एक बेहतर विकल्प रहा है, लेकिन इसके स्थान पर फाइल्स बाय गूगल का उपयोग किया जा सकता है, जिसमें बिना इंटरनेट के सहारे ही ऐप्स, वीडियोज, इमेज,ऑडियो वगैरह को साझा कर सकते हैं। जियो ब्राउजर मोबाइल इंटरनेट कंपनी जियो द्वारा विकसित एक वेब ब्राउजर है जो इंटरनेट को तेजी से चलाने में मददगार है और इसी के साथ यह उपयोगकतार्ओं की गोपनीयता का सम्मान करता है। चाइना बेस्ड यूसी ब्राउजर की जगह इसे उपयोग में लाया सकता है। ठीक इसी तरह से ब्यूटी प्लस की जगह मेक इन इंडिया, कैमस्कैनर की जगह अडोबी स्कैन को प्रयोग में लाकर अपने कई जरूरी कामों को आसानी से पूरा किया जा सकता है। 
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close