क्रिकेटखेल

गेल सी ताकत एबी सी क्षमता नहीं लेकिन टी20 के बादशह है विराट-गंभीर

मुंबई
पूर्व भारतीय ओपनर गौतम गंभीर का मानना है कि विराट कोहली अगर टी20 क्रिकेट में सफल हैं तो इसका पूरा श्रेय उनकी बेहतरीन फिटनेस को जाता है। उन्होंने साथ ही कहा कि विराट के पास भले ही क्रिस गेल जैसी ‘ताकत’ और एबी डि विलियर्स जैसी ‘क्षमता’ नहीं है लेकिन वह काफी फिट हैं। कोहली टेस्ट और वनडे में तो सफल हैं ही, उन्होंने टी20 में भी अपनी विशेष छाप छोड़ी है।

भारतीय कप्तान ने टी20 अंतरराष्ट्रीय में अब तक 82 मैचों में 50.8 की औसत से 2794 रन बनाए हैं। गंभीर ने 'क्रिकेट कनेक्टेड' में कहा, ‘वह (कोहली) हमेशा एक स्मार्ट क्रिकेटर रहे हैं लेकिन उन्होंने अपनी शानदार फिटनेस के कारण पूरे टी20 करियर को बेहद सफल बना दिया।’

गंभीर ने कहा, ‘शायद इसलिए कि उसके पास क्रिस गेल जैसी ताकत नहीं है, उसके पास एबी डि विलियर्स जैसी क्षमता नहीं है, उसके पास संभवत: जैक कैलिस या ब्रायन लारा जैसी क्षमता नहीं है।’

बायें हाथ के इस पूर्व बल्लेबाज से पूछा गया था कि भारतीय कप्तान के क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में सफल होने के क्या कारण हैं, तो उन्होंने कहा कि विकेटों के बीच दौड़ लगाने और स्ट्राइक रोटेट करने में भी कोहली का कोई सानी नहीं है। इस मामले में गेल, डि विलियर्स और रोहित शर्मा भी उनसे पीछे हैं।

ईस्ट दिल्ली से लोकसभा सांसद गंभीर ने कहा, ‘क्रिस गेल या एबी में विशेषकर स्पिनरों के सामने स्ट्राइक रोटेट करने का कौशल नहीं है लेकिन विराट के पास है और इसलिए उनका औसत 50 से ऊपर है।’

टी20 वर्ल्ड कप 2007 और वनडे वर्ल्ड कप 2011 की विजेता टीम के सदस्य रहे गंभीर ने कहा, ‘विराट का सबसे मजबूत पक्ष उनकी फिटनेस है और उन्होंने इसे अपने खेल में अच्छी तरह से ढाला है। यही वजह है कि वह इतने सफल हैं, इसलिए इसका श्रेय उन्हें जाता है।’

उन्होंने कहा, ‘सबसे अहम बात यह है कि वह विकेटों के बीच बहुत अच्छी तरह से दौड़ लगाते हैं, ज्यादातर बल्लेबाज ऐसा नहीं कर पाते हैं।’ कोहली आईपीएल में भी सफल रहे हैं जहां उन्होंने 177 मैचों में 5412 रन बनाए हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close