विदेश

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के तीन बड़े अधिकारियों पर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध लगाया

 वॉशिंगटन  
अमेरिका ने चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के खिलाफ बड़ा ऐक्शन लिया है। कम्युनिस्ट पार्टी के तीन बड़े अधिकारियों पर मुस्लिम बहुल शिनजियांग प्रांत में उइगुर मुसलमानों, कजाक और अन्य जातीय अल्पसंख्यकों के मानवाधिकारों का उल्लंघन करने को लेकर प्रतिबंध लगा दिया।

चीन की सत्तारूढ़ कम्यूनिस्ट पार्टी से जुड़े इन अधिकारियों में चेन कुआंगू, झु हाइलुन और वांग मिंगशान शामिल हैं। प्रतिबंध लगने के बाद ये अधिकारी ओर इनके परिवार के सदस्य अब अमेरिका में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि चीन के शिनजियांग प्रांत में मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर अमेरिका कार्रवाई कर रहा है।

चीन पश्चिमी भाग में उइगर मुस्लिमों की बड़ी आबादी है, लेकिन वर्षों से ड्रैगन इनका दमन करने में जुटा है। कई अंतरराष्ट्रीय मनवाधिकार संगठनों ने चीन पर उइगर मुस्लिम संगठनों पर जुल्म करने का आरोप लगाया है। उन्हें डिटेंशन कैंपों में रखा जाता है, धार्मिक आजादी छीन ली गई है और कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। 

पोम्पिओ ने कहा, ''मैं दूसरे सीसीपी अधिकारियों पर भी अतिरिक्त वीजा प्रतिबंध लगा रहा हूं, जो उइगर मुस्लिमों, कजाक और दूसरे अल्पसंख्यक समुदायों पर अन्याय के लिए जिम्मेदार माने जाते हैं। इस प्रतिबंध के दायरे में परिवार के सदस्य भी आएंगे।''

पोम्पिओ ने कहा कि चीन उइगर, कजाक और दूसरे अल्पशंख्यक समुदाओं के मानवाधिकारों का हनन कर रहा है, उनसे जबरन काम कराया जाता है, सामूहिक रूप से हिरासत में रखा जा रहा है और जबरन जनसंख्या नियंत्रण को लागू किया जा रहा, उनकी संस्कृति और मुस्लिम आस्था को खत्म करने की कोशिश की जा रही है, ऐसे में अमेरिका चुपचाप नहीं बैठा रहेगा। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close