इंदौरमध्यप्रदेश

जिला अस्पताल में एक ही दिन में 4 नवजात की मौत, अस्पताल में हड़कंप

धार
जिला अस्पताल में एक ही दिन में चार नवजात की मौत हो गयी. इससे पूरे शहर और अस्पताल में हड़कंप मचा हुआ है. मृतक बच्चों के परिवार डॉक्टरों पर गंभीर लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन अस्पताल प्रशासन का कहना है कि बच्चे गंभीर रूप से बीमार थे. सभी की अलग-अलग कारणों से स्वाभाविक मौत हुई है.

धार ज़िला अस्पताल में एक ही दिन में 4 बच्चों की मौत हुई तो सब सकते में आ गए. दिन गुजरते-गुजरते जब ये खबर मृतक बच्चों के परिवार को लगी तो देर रात उन्होंने हंगामा कर दिया. उन्होंने जिला अस्पताल के डॉक्टरों और स्टाफ पर इलाज में लापरवाही का गंभीर आरोप लगाया. इसके बाद यह पूरा मामला मीडिया के सामने आया. अब जिला अस्पताल प्रबंधन कह रहा है कि अलग अलग बीमारियों की वजह से सभी बच्चों की स्वभाविक मौत हुई है.

जिला अस्पताल में स्पेशल केयर न्यू बॉर्न यूनिट है. इसमें गंभीर रूप से बीमार बच्चों का इलाज किया जाता है. यह यूनिट यूनिसेफ की मदद से चलती है. इसमें काफी अच्छी चिकित्सा सुविधा है. इसके बावजूद यहां भर्ती चार नवजात बच्चों की इलाज के दौरान एक ही दिन में मौत हुई तो सबके कान खड़े हो गए.

धार जिला अस्पताल के एससीएनयू में नवजात बच्चों की मौत का सिलसिला शुक्रवार सुबह से शुरू हुआ. देर रात तक ये आंकड़ा बढ़कर 4 हो गया. उन्हीं में से एक मृतक बच्चे के पिता धीरज ने आरोप लगाया कि उसके बच्चे की मौत डाक्टरों और नर्सों की लापरवाही के कारण हुई है .

धार जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. जेपीएस ठाकुर और SNCU में ड्यूटी डॉक्टर राशिका का कहना है कि चारों बच्चों की स्‍वभाविक मौत हुई है. चारों बच्चे गंभीर हालत में थे और चारों की अलग-अलग समय और अलग-अलग बीमारियों से मौत हुई है. एक बच्चे को निमोनिया से, दूसरे की फेफड़े में दूध अटकने से मौत हुई. जबकि बाकी दो बच्चे बेहद कमज़ोर पैदा हुए थे. जन्म के समय उनका वज़न महज 800 ग्राम था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close