देश

तीन महीने में मिले 90% केस, दुनिया में कोरोना के मामले एक करोड़ के पार

नई दिल्ली 
दुनिया में कोरोना वायरस की दस्तक के छह माह पूरे होने के साथ मरीजों की तादाद एक करोड़ के पार हो गई है। वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, देर रात कोरोना के मरीजों की संख्या एक करोड़ से भी 51 ज्यादा हो गई। दरअसल, गर्मी में वायरस कमजोर होने के सारे अनुमान गलत साबित हुए और जून में हर दिन सवा लाख से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। कोरोना के 67 फीसदी यानी दो तिहाई से ज्यादा मरीज तो सिर्फ मई और जून में सामने आए। मई में रोज औसतन करीब एक लाख और जून में रोज औसतन एक लाख 35 हजार मरीज मिल रहे हैं। वहीं, 90 फीसदी कोरोना के केस अप्रैल-मई-जून में सामने आए हैं।

कोरोना ने मार्च में सबसे ज्यादा एक लाख 90 हजार से ज्यादा जानें ली। उस वक्त इटली, फ्रांस, स्पेन में महामारी चरम पर थी और अमेरिका में उसका कहर बरपाना शुरू हो गया था। मई-जून में मामले तो बढ़े हैं, लेकिन उनमें 60 फीसदी से ज्यादा बिना लक्षण वाले मरीज हैं, ऐसे में मौतों पर कुछ हद तक कमी आई है।

38 देशों ने पाई जीत
दुनिया में छोटे बड़े ऐसे 38 देश हैं, जो कोरोना पर जीत पा चुके हैं या उसके करीब हैं। जबकि तवालु, वनातु, सोलोमन आईलैंड जैसे नौ छोटे द्वीपीय देश है, जहां कोरोना नहीं पहुंचा।न्यूजीलैंड भी पिछले हफ्ते कोरोना मुक्त हुआ था, लेकिन फिर नए मामले सामने आए।

भूटान-श्रीलंका की सफलता
भारत के पड़ोसी देश भूटान, श्रीलंका और म्यांमार ने कोरोना पर सफलता पा ली है। भूटान में जहां एक भी एक्टिव मरीज नहीं है, वहीं श्रीलंका में नौ और म्यांमार में एक मरीज ही भर्ती है।

अमेरिकी महाद्वीप में ही आधे मरीज
कोरोना अमेरिकी महाद्वीपों पर सबसे बड़ा आफत बनकर उभरा है। उत्तरी अमेरिका में अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको में 28 लाख से ज्यादा मरीज हैं। दक्षिण अमेरिका में ब्राजील, पेरू, चिली, आदि को मिलाकर 20 लाख के करीब लोग संक्रमित हुए हैं। अमेरिका और ब्राजील में रोज करीब 40-40 हजार मामले सामने आ रहे हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close