जबलपुरमध्यप्रदेश

तेंदुआ की खाल और अन्य अंगों के साथ वन विभाग ने तीन व्यक्तियों को किया गिरफ्तार

जबलपुर
तीन व्यक्तियों को तेंदुआ की खाल और अन्य अंगों के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने छह महीने पहले तेंदुए का शिकार किया था। इसके बाद उसमें कुनैन की गोली डालते थे, ताकि बदबू न आए और किसी को शक न हो। वन्य प्राणियों के अंगों का यह गिरोह अंतर्राज्यीय अवैध कारोबार करता था। वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो जबलपुर और छत्तीसगढ़ वन विभाग की संयुक्त टीम ने डिंडोरी निवासी रामसिंह और भगवानी, अनूपपुर निवासी शक्ति सिंह को डिंडोरी जिले में अमरकंटक रोड पर जगतपुर गांव से गिरफ्तार किया है।

मध्यप्रदेश वन्य प्राणी मुख्यालय को इन अपराधियों के बारे में गुप्त सूचना मिली थी। तीनों आरोपियों को विशेष टीएसएफ न्यायालय जबलपुर में पेश किया जा रहा है। प्रथम दृष्ट्या इसमें एक संगठित गिरोह शामिल होने के साक्ष्य मिले हैं, जिसकी विवेचना की जा रही है।

बताया गया कि आरोपियों ने तेंदुए की खाल और हड्डियों को बेचने का सौदा छत्तीसगढ़ में किया था। वन विभाग की टीम ने आरोपित राम सिंह पिता भद्दु सिंह निवासी जगतपुर, भगवानी पिता वीर सिंह निवासी खुरखुरी दादर और शक्ति सिंह पिता गंगा सिंह निवासी अनूपपुर के विरुद्ध केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

तीनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। मामले में संगठित गिरोह के शामिल होने की चर्चा है। बताया गया कि आरोपियों ने करंट लगाकर डिंडोरी, छत्तीसगढ़ की सीमा में लगभग 6 महीने पहले तेंदुए का शिकार किया था। तेंदुए की खाल सुरक्षित रखने के लिए कुनैन की गोली डाल कर रखी गई थी।

सिवनी जिले में पेंच टाइगर रिजर्व के अरी बफर परिक्षेत्र में वन्य प्राणी सेही के शिकार के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। पेंच टाइगर रिजर्व के मुख्य वन संरक्षक एवं क्षेत्र संचालक विक्रम सिंह परिहार ने बताया कि हिरेन्द्र से पूछताछ करने पर उसने अपने दोनों साथियों के साथ शिकार करना स्वीकार किया।

आरोपी हिरेन्द्र की निशानदेही पर सेही के कांटे महेन्द्र के घर से और भाला लोकेश के घर से बरामद किया गया। इन आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। पेंच पार्क के बफर जोन में 29 जून व 30 जून की रात में हिरेन्द्र, महेन्द्र उइके, लोकेश द्वारा सेही वन्यप्राणी को भाला और कुल्हाड़ी द्वारा शिकार किया गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close