टीवीमनोरंजन

धर्मेश येलांदे ने घर चलाने के लिए 19 साल की उम्र में छोड़ दी थी पढ़ाई

 

कोरियॉग्रफर धर्मेश येलांदे आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। उन्हें बच्चों से लेकर बड़े सभी जानते हैं। लेकिन यहां तक पहुंचने की धर्मेश की कहानी बहुत ही संघर्ष और दुखभरी रही है। हाल ही धर्मेश अपनी जिंदगी के उसी संघर्ष की कहानी को बयां किया।

धर्मेश ने बताया कि उनकी जिंदगी पर तब तूफान आ गया था जब नगरपालिका ने उनके पापा की दुकान को तोड़ दिया। तब उनके पापा ने चाय की दुकान खोली। दिनभर में वह 50 से 60 रुपये तक की चाय बेचते थे। परिवार में 4 सदस्य थे और इतने कम पैसों में गुजारा कर पाना बहुत ही मुश्किल था। धर्मेश ने आगे कहा, 'लेकिन पापा हमेशा कहते थे कि पढ़ाई कभी नहीं छोड़नी चाहिए। उन्होंने हमारे स्कूल की फीस भरने के लिए एक-एक रुपया बचाया।'

धर्मेश ने बताया कि वह डांसर बनना चाहते थे और इसलिए टीवी के सामने बैठ जाते और गोविंदा को देख-देखकर उनकी नकल करते रहते। वह बोले, 'हमारा घर बहुत ही छोटा था, इसलिए मैं गलियों में चला जाता था और वहां दिल खोलकर नाचता था। छठी क्लास में जब मैं एक डांस कॉम्पिटिशन में फर्स्ट आया तो पापा ने डांस क्लास में ऐडमिशन करवा दिया। जबकि हमारी आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब थी।'

उन्होंने आगे कहा, 'इस वजह से पढ़ाई में मेरे ग्रेड बहुत कम आए। मैं 19 साल का था जब कॉलेज छोड़ा। मैंने फिर एक चपरासी का काम करना शुरू कर दिया। साथ में बच्चों को डांस भी सिखाता था। इससे मुझे महीनेभर में 1,600 रुपये की कमाई हो जाती थी। इसके बाद मैं फिर खुद अपनी डांस प्रैक्टिस के लिए जाता था। लेकिन जैसे ही मेरी एंट्री सीनियर बैच में हुई। मैंने नौकरी छोड़ दी और फुल टाइम डांस करने लगा। उस वक्त मैं एक फिल्म में एक बैकअप डांसर के तौर पर काम कर रहा था।'

धर्मेश ने आगे उन पलों को भी याद किया जब वह पॉप्युलर डांस शो 'बूगी वूगी' में पहुंचे। वह बोले, 'मुंबई आने के बाद मैं बॉलिवुड में अपने लिए ऑफर तलाशने लगा। मां कहती कि डांस से पैसे नहीं आएंगे, लेकिन मेरे लिए डांस, सांस लेने जैसा था। इसलिए जब मुझे पता चला कि 'बूगी वूगी' से दो कंटेस्टेंट्स ने अपना नाम वापस ले लिया है तो मैंने अपना नाम देने का सोचा। मुझे पहला स्थान मिला और मैंने 5 लाख रुपये जीते। उन पैसों से मैंने पापा द्वारा लिए गए कर्ज चुकाए। फिर मौके आते गए। लेकिन 2 साल तक कोशिश करने के बावजूद मुझे कोई लीड रोल नहीं मिला। मैं वापस घर चला गया।'

लेकिन जब 'डांस इंडिया डांस' मिला तो उसके बाद धर्मेश की जिंदगी ही बदल गई। इसके बाद उन्हें ऐक्ट्रेस कटरीना कैफ को कोरियोग्राफ करने का मौका भी मिला है। धर्मेश ने बताया, 'कुछ महीनों बाद मैंने 'डांस इंडिया डांस' के लिए ऑडिशन दिया। मैंने वह जीता नहीं पर हिट हो गया। उसके बाद मुझे डांस शोज में गेस्ट अपीयरेंस के लिए लाखों में रुपये मिलने लगे। मैंने कटरीना कैफ जैसी स्टार्स को भी कोरियोग्राफ किया। तब रेमो सर ने मुझसे पूछा था, 'मेरी मूवी में लीड रोल करेगा?'

धर्मेश को अब इस बात की खुशी है कि उन्होंने अपनी मेहनत की कमाई से घर लिया है, पर अभी भी उनके पापा चाय की दुकान चलाते हैं। वह बोले, 'अपनी कमाई से मैंने परिवार के लिए घर लिया पर पापा अभी भी वही वाली चाय की दुकान चलाते हैं। मैंने उनसे कहा कि अब आपको काम करने की ज़रूरत नहीं है। पर वह मानते नहीं। मुझे लगता है कि कभी भी हिम्मत न हारने की यह खूबी मुझे मेरे पापा से ही मिली है। मैं अभी भी वही लड़का हूं जो गोविंदा के गानों की धुनों पर बेफिक्र होकर नाचता है।'

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close