बिहारराज्य

नहीं थम रहा पटना में कोरोना का कहर 

 पटना 
पीएमसीएच के गायनी वार्ड के सात डॉक्टरों समेत पटना में रविवार को कुल 29 कोरोना संक्रमित मिले। वहीं, पटना एम्स में भर्ती कोरोना संक्रमित जक्कनपुर थाने के ड्राइवर की मौत हो गई। चालक मसौढ़ी का रहने वाला था। जिले में जहां संक्रमितों की संख्या 409 हो गई, मरने वालों का आंकड़ा तीन हो गया है।

पीएमसीएच के  डॉक्टरों के संक्रमित पाए जाने के बाद अन्य डॉक्टरों, नर्सों व मरीजों में भय का माहौल है। कई मरीजों के परिजन संक्रमण के खतरे से रोते नजर आए। संक्रमित में दो पुरुष व पांच महिला डॉक्टर हैं। इनमें से छह पीजी डॉक्टर हैं। वहीं, 54 वर्षीय डॉक्टर डॉक्टर कॉलोनी में रहता है। सभी के तीन दिन पहले एनेस्थिसिया विभाग के संक्रमित  डॉक्टर के संपर्क में आने की बात कही जा रही है। एनेस्थिसिया का डॉक्टर बुधवार रात और शुक्रवार को गायनी वार्ड में ड्यूटी की थी। बुधवार और शुक्रवार को जिन सीनियर डॉक्टरों की यूनिट में इन्होंने काम किया था, उनकी जांच सोमवार को होगी। डॉक्टरों को अभी गायनी वार्ड में ही रखा गया है। सोमवार को कोरोना अस्पताल या आइसोलेशन सेंटर भेजा जाएगा। वार्ड में कार्यरत नर्सिंग स्टाफ का कहना है कि जूनियर डॉक्टर लगातार ड्यूटी कर रही थीं। ऐसे में अन्य डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ संक्रमित हो सकते हैं। 

बुद्धा कॉलोनी से लिया सैंपल
सिविल सर्जन डॉ.  आरके चौधरी ने बताया कि रविवार को बुद्धा कॉलोनी से लोगों का सैंपल लेने का कार्य किया गया। इसके लिए उनकी टीम वहां गई थी। वहां के दुकानदारों और डॉक्टर के आसपास के निवासियों का भी सैंपल लिया गया। सोमवार को मोहल्ले में एक बार फिर सैंपल लेने के लिए टीम जाएगी। 

अस्पताल में रखे जाने का विरोध करेंगी नर्स और अन्य स्टाफ
संक्रमित पाए गए डॉक्टरों को पीएमसीएच में रखे जाने का नर्स और अन्य सहयोगी स्टाफ विरोध करेंगे। नर्सों का कहना है कि एनएमसीएच और एम्स दो कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल बने हैं। पीएमसीएच का कॉटेज वार्ड सेंट्रली एसी है। एक्सरे आदि भी कॉमन ही हैं। ऐसे में किसी एक संक्रमित से अस्पताल के कई नर्स और डॉक्टर संक्रमित हो सकते हैं। ऐसे में डॉक्टरों  को यहां रखने से संक्रमण का बड़ा खतरा उत्पन्न हो सकता है।   

सरिस्ताबाद में तीन संक्रमित
सात डॉक्टरों के अलावा रविवार को जिले में कुल 22 अन्य संक्रमित मिले। इनमें से गर्दनीबाग के सरिस्ताबाद से तीन, भट्टाचार्या रोड, सालिमपुर अहरा, किदवई पुरी, बेऊर, भागवतनगर से एक-एक और पटना सिटी से पांच लोग तथा सबलपुर के तीन संक्रमित मिले हैं। पटना सिटी से मिले संक्रमितों में से एक मीना बाजार का 28 वर्षीय युवक, एक जल्ला सिटी का तथा तीन अशोक चक्कर गली के हैं। इसके अलावा मसौढ़ी, बिहटा, महाराजगंज, मनेर, सिमरटोली से एक-एक संक्रमित मिले हैं। 

पैथोलॉजी सहायक भी संक्रमित
22 संक्रमितों में पीएमसीएच का पैथोलॉजी विभाग का सहायक भी कोरोना संक्रमित पाया गया है। 32 वर्षीय संक्रमित कर्मी लोगों का सैंपल लेने का काम करता था। इसे अभी कोरोना आइसोलेशन में ही रख गया है।

छह संक्रमित स्वस्थ होकर लौटे घर
एनएमसीएच के कोरोना नोडल सेंटर से रविवार  छह मरीजों डिस्चार्ज किया गया है। इनमें बक्सर के संजय कुमार पंडित, मैनपुरा पटना के मो. हुसैन अहमद, बक्सर के अरुण कुमार, कुम्हरार पटना के शशांक कुमार, बेगूसराय के विकास कुमार व दरभंगा के रामचंद्र यादव शामिल हैं।

दो अपार्टमेंट और एक कॉलोनी सील  
गांधी मैदान थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि गांधी मैदान थाने के भट्टाचार्य रोड स्थित आरके बंसल अपार्टमेंट व जमालरोड के श्रीराम प्लाजा अपार्टमेंट को सील कर दिया गया है। कोतवाली क्षेत्र के कमला नेहरू नगर में बैरिकेडिंग कराई गई है। प्रभारी रमाशंकर सिंह ने बताया कि यहां कोरोना का मरीज मिला है। बुद्धा कॉलोनी थाना प्रभारी रविशंकर सिंह ने बताया कि पुष्पांजलि अपार्टमेंट में संक्रमितरहते हैं। इसे भी सील किया जाएगा।

पिछले 24 घंटे में 264 संक्रमित स्वस्थ हुए
पिछले 24 घंटे में राज्य में 264 संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी। डाक्टरों ने उन्हें फिलवक्त होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी, ताकि संक्रमण के पुन: शिकार होने से बच सकें। राज्य में अबतक 5631 संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, अभी कोरोना के राज्य में 1919 एक्टिव मरीज हैं, जबकि अबतक 4941 प्रवासियों को कोरोना संक्रमित पाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close