विदेश

नाइजीरिया ने किया कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा

अबूजा
कोरोना वायरस के कहर से जूझ रही दुनिया को बचाने के लिए वैज्ञानिक दिन-रात इस वैश्विक महामारी का वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। कई देशों के वैज्ञानिकों ने दावा भी किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की वैक्सीन बना ली है। लेकिन, विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, अभी तक कोई भी ऐसी वैक्सीन नहीं बनी है जिसे कोरोना वायरस वैक्सीन का नाम दिया जा सके।

नाइजीरियाई वैज्ञानिकों ने किया वैक्सीन का दावा
इस बीच नाइजीरिया के वैज्ञानिकों ने भी दावा किया है कि उन्होंने कोरोना वायरस की वैक्सीन की खोज कर ली है। कोरोना वायरस को लेकर गठित नाइजीरियन यूनिवर्सिटीज के वैज्ञानिकों के दल शुक्रवार को यह जानकारी दी।

वैक्सीन फुलप्रूफ बनने में लगेगा 18 महीना
द गार्जियन नाइजीरिया के अनुसार, मेडिकल वायरोलॉजी, इम्यूनोलॉजी एंड बायोइनफॉरमैटिक्स के विशेषज्ञ और रिसर्च टीम के प्रमुख डॉ ओलाडिपो कोलावोल ने कहा कि इस वैक्सीन को अफ्रीकी लोगों के लिए अफ्रीका में स्थानीय स्तर पर विकसित किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि मार्केट में इस वैक्सीन के उपलब्ध होने में अब भी 18 महीनों का समय लगेगा। क्योंकि, मरीजों पर प्रयोग से पहले इस वैक्सीन को कई स्तर के ट्रायल से गुजरना पड़ेगा।

वाइस चांसलर बोले- जो हो सकेगा, सब करेंगे
विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर सोलोमन एडबोला ने कहा कि हमे खुशी है कि एक ऐसी वैक्सीन आ गई है जो कोरोना वायरस जैसी वैश्विक समस्या से लोगों को छुटकारा दिलाएगी। इस बीमारी से लोगों को बचाने के लिए हम पूरे जज्बे के साथ जुटे हुए हैं। इस वैक्सीन को वास्तविकता बनाने और लोगों के इलाज तक पहुंचाने के लिए हमसे जो हो पाएगा, हम वो सब करेंगे।

अफ्रीकी लोगों के अलावा अन्य लोगों पर असर का दावा
प्रीसियस कॉर्नरस्टोन विश्वविद्यालय के कुलपति और रिसर्च ग्रुप के कॉर्डिनेटिंग कमेटी के चीफ प्रो जूलियस ओलोके ने कहा कि यह वैक्सीन असली है। हमने कई बार इसकी जांच भी की है। यह वैक्सीन अफ्रीकी लोगों को कोरोना महामारी से बचाएगी, लेकिन हमें आशा है कि यह अन्य महाद्वीपों के लोगों पर भी काम करेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close