बिज़नेस

नौकरी बचाने की एक स्कीम लेकर आई एयर इंडिया

नई दिल्ली
कोरोना संकट (Coronavirus crisis) के बीच बेरोजगारी की समस्या काफी तेजी से बढ़ी है। हर सेक्टर में बड़े पैमाने पर छंटनी हुई है या सैलरी में कटौती की गई है। लॉकडाउन का अगर किसी सेक्टर पर सबसे बुरा असर हुआ है तो वह एविएशन सेक्टर (Aviation sector) है। अभी भी देश में केवल घरेलू हवाई सेवा जारी है। ऐसे में एयर इंडिया अपने कर्मचारियों की नौकरी बचाने के लिए एक स्कीम लेकर आई है।

केवल केबिन क्रू पर लागू होगी स्कीम
एयर इंडिया ने शॉर्टर वर्किंग वीक स्कीम (shorter working week scheme) की शुरुआत की है। यह स्कीम केवल क्रू मेंबर के लिए लागू होगी। इसके तहत वे सप्ताह में तीन दिन काम करने का विकल्प चुन सकते हैं और बदले में उन्हें वर्तमान सैलरी की 60 फीसदी मिलेगी। पायलट पर यह स्कीम लागू नहीं होगी और इसे फिलहाल एक साल के लिए लागू किया गया है।

कैश किल्लत से जूझ रही है एयरलाइन
दरअसल एयर इंडिया भारी कर्ज और कैश किल्लत से जूझ रही है। कोरोना के कारण यह समस्या और गंभीर हो गई है। ऐसे में कैश किल्लत को कम करने के मकसद से एयरलाइन ने यह फैसला लिया है। एयरलाइन की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, जो कर्मचारी इस स्कीम को अपनाते हैं वे चार दिन कोई दूसरा काम नहीं कर सकते हैं।

पायलट की सैलरी में कटौती संभव
इससे पहले खबर आई थी कि एयर इंडिया गारंटीड फ्लाइंग आवर्स (guaranteed flying hours) को आधा कर सकती है। वर्तमान में एक पायलट के लिए यह 70 घंटे है जिसे घटाकर 30-35 घंटे करने की खबर सामने आई थी। इसी आधार पर पायलट को फ्लाइंग अलाउंस मिलता है। फिलहाल इस प्रस्ताव को सिविल एविएशन मिनिस्ट्री (Civil Aviation ministry) में भेज दिया गया है। अगर इसे मंजूर कर लिया जाता है तो पायलट की सैलरी घट जाएगी, क्योंकि सैलरी का 70 फीसदी हिस्सा अलाउंस के रूप में होता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close