बिज़नेस

पंजाब एण्ड सिंध बैंक के दो खातों में 112 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी

 
नई दिल्ली

सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab and Sindh bank) ने शुक्रवार को उसके दो फंसे कर्ज के खातों में 112.42 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी (bank fraud) होने की जानकारी दी है। ये खाते महा एसोसियेटिड होटल्स और एडयार जिंक के हैं। बेंक ने नियामकीय सूचना में कहा है कि उसने इस धोखाधड़ी के बारे में रिजर्व बैंक को सूचित कर दिया है और वह इस बारे में केन्द्रीय जांच ब्यूरो के पास शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया में है।

बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि महा एसोसियेटिड होटल्स प्रा. लि. से संबंधित ऋण खाते में 71.18 करोड़ रुपये का बकाया है। उसने कहा कि एनपीए खाते को धोखाधड़ी घोषित किये जाने की सूचना भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को दी जा चुकी है। वर्तमान में महा एसोसियटिड होटल्स का मामला एनसीएलटी में लंबित है। बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि सेबी विनियमों और बैंक की नीति के लागू प्रावधानों के अनुसार, "यह सूचित किया जाता है कि 44.40 करोड़ रुपये के प्रावधान वाले 71.18 करोड़ रुपये के बकाया एनपीए खाता ‘महा एसोसिएटेड होटल्स प्राइवेट लिमिटेड’ को धोखाधड़ी घोषित किया गया है और नियामकीय आवश्यकता के अनुसार आरबीआई को इसकी सूचना दी गयी है।"

एक अन्य सूचना में बैंक ने कहा कि एडयार जिंक का एनपीए खाता 41.24 करोड़ रुपये के बकाये के साथ धोखाधड़ी वाला खाता घोषित कर दिया गया है और इसकी जानकारी आरबीआई को दे दी गई है। इस साल अप्रैल में बैंक ने गोल्डन जुबली होटल्स के 86 करोड़ रुपये अधिक के बकाये वाले गैर-निष्पादित खाते को भी धोखाधड़ी घोषित किया था।
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close