देश

पड़ोसी के बच्चे शोर करते थे ,चौथी मंजिल से फेंका

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के कोलकाता में एक हैरान कर देते वाली वारदात सामने आई है। यहां एक शख्स ने अपने पड़ोसी के दो बच्चों को चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया। उसने इस घटना को इसलिए अंजाम दिया क्योंकि वह बच्चों की शरारत से परेशान था। बच्चे उसके घर के दरवाजे के बाहर शोर करते थे और वह इस शोर से परेशान होता था। गुस्से में आकर उसने दोनों को नीचे फेंक दिया। एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दूसरे की हालत गंभीर है। पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तार कर लिया है।
मामला बड़ा बाजार इलाके का है। पुलिस ने बताया कि एनएस रोड के नंदराम मार्केट के पास एक सौ साल पुरानी चॉल है। यहां पर रहने वाला शिब कुमार गुप्ता और बुधाना शाह दोनों इस चॉल में किराए पर रहते हैं। पेशे से ट्रांसपोर्टर बुधाना के दो बच्चे डेढ़ साल का शिवम और सात साल का विशाल थे। शिब कुमार और बुधाना का बच्चों को लेकर कई बार झगड़ा होता था।

बच्चों के खेलने को लेकर कई बार हुआ था विवाद
हार्डवेयर की दुकान चलाने वाले शिब कुमार ने बताया कि उसने कई बार बच्चों को और उनके परिवार को कहा कि उसके दरवाजे के बाहर उन्हें न खेलने दें। बच्चे दरवाजे के बाहर शोर करते थे जिससे वह परेशान होता था। शिब कुमार और बुधाना के बीच झगड़े के दौरान शिब ने उसे चेतावनी भी दी थी कि अगर उसने बच्चों को नहीं रोका तो वह एक दिन उन्हें बालकनी से उठाकर नीचे फेंक देगा।

'बॉल खेलने से खराब हो रही थी दीवार'
रविवार की शाम को बच्चे फिर से शिब के दरवाजे के बाहर खेल रहे थे। इस दौरान बॉल शिब के दरवाजे पर लग रही थी। शिब ने बताया कि बच्चों की बॉल से उसके घर के दीवार भी खराब हो रही थी। उसने गुस्से में बच्चों को उठाकर बालकनी से नीचे फेंक दिया। बाद में उसने एहसास हुआ कि उसने ठीक नहीं किया।

एक बच्चा सड़क पर तो दूसरे की गर्दन तार में फंसकर लटका
लोगों ने बताया कि उन्होंने शोर सुना तो वे भागकर मौके पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि डेढ़ साल का शिवम सड़क पर पड़ा है। वहीं सात साल का विशाल स्टोर के टिन शेड के ऊपर पड़ा था। उसकी गर्दन वहां पड़े तार में फंसी थी। स्थानीय निवासी रंजीत सोनकर ने बताया, 'जब हम बाहर आए तो देखा कि दोनों बच्चों के शरीर से बहुत खून बह रहा था। हम लोगों ने उन्हें अस्पताल ले जाने के लिए उठाया तो पाया कि शिवम की मौत हो चुकी थी। हालांकि हम लोग दोनों को अस्पताल ले गए जहां विशाल का इलाज चल रहा है। उसकी हालत गंभीर है।'

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close