देश

पतंजलि की कोरोनिल दवा का प्रचार रुका, केंद्र ने मांगी डीटेल

नई दिल्ली
भारत सरकार ने पतंजलि से कोरोना वायरस की दवा का विज्ञापन बंद करने को कहा है। दरअसल, योग गुरु स्वामी रामदेव ने कोरोना वायरस की दवा 'कोरोनिल' को मंगलवार को बाजार में उतार और दावा किया कि आयुर्वेद पद्धति से जड़ी बूटियों के गहन अध्ययन और शोध के बाद बनी यह दवा शत प्रतिशत मरीजों को फायदा पहुंचा रही है।

सरकरा ने रोका, मांगी डिटेल
पतंजलि योगपीठ (Patanjali Medicine for Corona) के प्रमुख बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने इस दवा को लॉन्च करते हुए क्लिनिकल ट्रायल में इसके सफल परिणामों का दावा किया है। इस दवा को मंगलवार से ही बाजार में उतारने का दावा किया गया है। इस मामले पर सरकार ने पतंजली से कहा है कि इसका प्रचार प्रसार तुरंत बंद किया जाए। सरकार ने कहा कि अभी इस दवा की वैज्ञानिक जांच नहीं हुई और उनको इस बारे में नहीं पता, इसलिए अभी तत्काल प्रभाव से इसका प्रचार प्रसार रोका जाए।

पतंजलि का दावा
कोरोना वायरस को हराने के लिए पतंजलि ने पहले चरण के सफल ट्रायल के बाद इस दवा को बनाने में सफलता हासिल कर ली। यह मुख्य रूप से रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और कोरोना वायरस के संक्रमण को शरीर में फैलने से रोकने का कार्य करेगी। इस बारे में डॉ जयदीप आर्य ने ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दी है कि ' यह औषधियां रेस्पिरेट्री सिस्टम से लेकर पूरे शरीर की ऊर्जा को संतुलित करती हैं एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं। पतंजलि के द्वारा इस तरह का नाम आयुर्वेदविजय कोरोनिल रखा गया है। इसके साथ-साथ ट्रायल में यह भी देखा गया कि दवा से 3 दिन में 69% की रिकवरी भी होती है।

3 दिनों में 69% तक रिकवरी का दावा
स्वामी बाबा रामदेव ने इस बारे में विशेष जानकारी देते हुए कहा है कि पूरी रिसर्च के बाद कोरोना की दवा तैयार की गई है। 280 संक्रमित मरीजों पर किए गए अध्ययन के दौरान यह देखा गया है कि 3 दिनों में 69% तक रिकवरी हो गई और मरीज को ठीक करने में काफी कम वक्त लगा। फिलहाल बताया गया है कि यह दवा रेस्पिरेट्री सिस्टम को मजबूत बनाएगी और कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने के लिए प्रभावी रूप से कार्य करेगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close