ग्वालियरमध्यप्रदेश

पर्यटको के लिए कूनो पालपुर सेंचुरी में व्यवस्थाएं विकसित की जाए- कमिश्रर

श्योपुर
कूनो पालपुर सेंचुरी के क्षेत्र में पर्यटको के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं विकसित कराई जाए, जिससे पर्यटक मूलभूत सुविधाएं सेंचुरी क्षेत्र में प्राप्त कर घूमने के लिए अपना मन बना सकें। उक्त निर्देश कूनो पालपुर सेंचुरी में स्थित सेंचुरी के पालपुर रेंस्टहाउस पर चम्बल संभाग आयुक्त आरके मिश्रा ने अधिकारियों से चर्चा करते हुए दिए। इस अवसर पर कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव, जिपं. सीईओं हर्ष सिंह, सहायक कलेक्टर पवार नवजीवन विजय, डीएफ ओं कूनो पीके वर्मा, एसडीएम कराहल विजय यादव, प्रभारी तहसीलदार कराहल शिवराज मीणा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे। चर्चा के दौरान कमिश्रर ने कहा कि कूनो पालपुर सेंचुरी में पर्यटको की संभावना को ध्यान में रखते हुए सेंचुरी के भीतर विकसित किये जाने वाले सभी पाईटों पर आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए कार्यवाही सुनिश्चित की जाए एवं टूरिस्टो के लिए गाईड तैनात किये जावे।

साथ ही सेंचुरी के पालपुर रेस्टहाउस पर टूरिस्टो के रूकने के लिए कमरे तैयार कराये जाए। भोजन, नाश्ता आदि के लिए व्यवस्था होना चाहिए। जिससे वे सेंचुरी के घूमकर अपनी रोजमर्रा की उधर पूर्ति विकसित सुविधाओ के अनुसार करने में सहायक बन सकें। आयुक्त मिश्रा ने कहा कि कूनो अभ्यारण के अंतर्गत ऐसे पाईट जो पर्यटको को आकृषित करने में सहायक हो एवं हिरण, गिद्ध एवं देखने लायक स्थलो की फोटोग्राफ ी कराई जाकर पर्यटको के लिए गाईड पेमप्लेट बनाई जाए।  कलेक्टर राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि कूनो पालपुर अभ्यारण के क्षेत्र के सेंचुरी के डीएफओ श्री पीके वर्मा के माध्यम से सभी सुविधाओ का पैकेज तैयार करने के लिए प्लान किया जा रहा है। उन्होने कहा कि टूरिस्टो की सुविधा के लिए गार्ड तैनाती की दिशा में भी आवश्यक कार्यवाहियों को अंतिम रूप देने के प्रयास शुरू कर दिये गये है। कलेक्टर ने कहा कि कूनो सेंचुरी का क्षेत्र काफी इलाके में फैला हुआ है। इस सेंचुरी में शेर आने पर पर्यटको की संख्या बढेगी।

आयुक्त मिश्रा ने कहा कि सेंचुरी में शेर लाने के लिए राज्य शासन स्तर से प्रयास किये जा रहे है। केन्द्र सरकार के सहयोग से गुजरात सरकार से शेरो की मंाग जारी है। उन्होने कहा कि सेंचुरी के पालपुर रेस्टहाउस से लगी कूनो नदी में पानी का प्रभाव रोकने के लिए भी कदम उठाये जा सकते है। जिससे नावए बोट नदी में चलाई जाकर पर्यटको के लिए नौकाह बिहार का अवसर प्रदान होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close