उत्तर प्रदेशराज्य

पांच दिन में कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट दें अफसर : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ
कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के अभियान के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड 19 से सर्वाधिक प्रभावित 11 जिलों के हालात सुधारने पर अपना पूरा ध्यान लगा दिया है। उन्होंने कहा है कि नोडल टीम के सदस्य सम्बन्धित जनपदों में संक्रमण तथा मृत्यु दर की अधिकता के कारकों का आकलन करें और पांच दिन में अपनी समग्र रिपोर्ट उपलब्ध कराएं। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि जनपदों में भेजी जा रही टीम कोविड-19 के संक्रमण की चेन तोड़ने, इसके प्रसार पर नियंत्रण के लिए गम्भीरता से प्रयास करे।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को हर हाल में रोका जाना है। ऐसे में, संक्रमित लक्षणरहित व्यक्ति को भी घर में रहने की अनुमति नहीं दी जा सकती, क्योंकि इससे संक्रमण के प्रसार की आशंका बनी रहती है। संक्रमण को रोकने के लिए संक्रमित लक्षणरहित व्यक्ति को भी अस्पताल में रखा जाना चाहिए।  

मुख्यमंत्री ने रविवार रात  कोविड-19 प्रभावित 11 जिलों आगरा, मेरठ, कानपुर नगर, अलीगढ़, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, बुलन्दशहर, झांसी व बस्ती के नोडल अधिकारियों के साथ बैठक की। कोरोना संक्रमण के ज्यादा केसेज़ वाले जिलों में वहां पर एक प्रशासनिक अधिकारी व एक चिकित्सक की टीम भेजी गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टीम द्वारा वहां पर कोविड-19 के सम्बन्ध में सर्विलांस सिस्टम तथा विभिन्न स्तरों के चिकित्सालयों की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने पर विशेष रूप से ध्यान केन्द्रित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत 03 वर्षों में विभिन्न स्तरों पर सावधानी बरतने से इंसेफेलाटिस के संक्रमण में 60 प्रतिशत तथा इससे होने वाली मृत्यु में 90 प्रतिशत की कमी आई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण में भी ऐसी ही प्रभावी व्यवस्था बनाए जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आपदा का यह समय, एक ऐसा अवसर है, जिसमें प्रशासनिक मशीनरी तथा हेल्थ वॉरियर्स अपनी कार्य कुशलता का प्रदर्शन कर अपने प्रति जनविश्वास को दृढ़ कर सकते हैं। राज्य में एल-1, एल-2 व एल-3 के कोविड अस्पतालों में 01 लाख से अधिक बेड उपलब्ध हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close