विदेश

पाक मंत्री फवाद चौधरी ने किसान आंदोलन के बहाने भारत के खिलाफ उगला जहर

इस्लामाबाद
पाकिस्तान की इमरान खान सरकार के बड़बोले मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने भारत में जारी किसान आंदोलन पर जहर उगला है। उन्होंने भारत पर पंजाबियों को दर्द देने का आरोप लगाया है। गौरतलब है कि केंद्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर पिछले 18 दिनों से हजारों की संख्या में किसान आंदोलन कर रहे हैं लेकिन सरकार के साथ गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। हुसैन ने ट्वीट किया है, 'भारत में जो हो रहा है उससे दुनियाभर के पंजाबियों को दर्द मिला है। महाराजा रंजीत सिंह के निधन के बाद से पंजाबियों पर कोई हमला होता रहा है। पंजाबियों ने आजादी की कीमत अपने खून से चुकाई है। पंजाबी अपनी मासूमियत के शिकार हैं।'

सरकार कर रही है मनाने की कोशिश
वहीं, भारत में IRCTC पीएम मोदी के खास संदेश वाला एक ईमेल पंजाब के किसानों और सिखों को भेज रहा है, जिसमें 47 पेज का एक पीडीएफ अटैच है। इसका शीर्षक 'पीएम मोदी एंड हिज गवर्मेंट्स स्पेशल रिलेशनशिप विद सिख' है। हिंदी, पंजाबी और अंग्रेजी में पीडीएफ अटैचमेंट वाला मेल की शुरुआत पीएम मोदी को दी गई 'कौमी सेवा अवार्ड' के जिक्र से की गई है। इसमें सरकार की ओर से सिखों के लिए उठाए गए 13 प्रमुख कार्यों का जिक्र है। इसमें श्री हरमंदिर साहिब को एफसीआरए के लिए रजिस्ट्रेशन की मंजूरी, वैश्विक संगत भागीदारी की अनुमति, पहली बार लंगर पर किसी तरह का कोई टैक्स नहीं लगने, करतारपुर कॉरिडोर तक आसानी से पहुंच, तीन दशकों तक नजरअंदाज किए जाने के बाद सिख दंगा पीड़ितों को न्याय दिलाना, जालियांवाला बाग मेमोरियल बनाकर प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों का सम्मान, काली सूची से हटाकर कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग करने जैसी बातों का जिक्र किया गया है। इस बुकलेट का प्रकाशन सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने किया है और इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कई तस्वीरें लगी हुई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close