छत्तीसगढ़

पीएम गरीब कल्याण योजना का लाभ देने से पहले प्रधानमंत्री वसूल रहे हैं गरीबों से पेट्रोल-डीजल में वृद्धि कर

रायपुर। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आॅयल के दामों में आ रही निरन्तर गिरावट के बावजूद देश में 22 वें दिन भी पेट्रोल डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने मोदी भाजपा पर जनता के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि यूपीए सरकार में महंगाई को डायन बताने वाले पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडे बताएं मोदी सरकार में महंगाई डायन है कि भाजपा की आनुवांशिक संगठन? किसान, गरीब, मजदूर, छोटे एवं सूक्ष्म उद्योग, ट्रांसपोर्ट सभी वर्ग अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड आॅयल के कीमत के अनुसार बढ़े दामों में पेट्रोलियम पदार्थ खरीद रहे थे अब जनता को क्रूड आॅयल के दामों में आई कमी का लाभ क्यों नहीं मिलना चाहिए?
मोदी-भाजपा ने आम जनता को महंगाई से राहत दिलाने का वादा किया था अब उस वादे को पूरा करने का वक्त आया है ऐसे समय में मोदी सरकार पेट्रोलियम पदार्थों में बेतहाशा टैक्स लगाकर मुनाफाखोरी कर जनता के साथ विश्वासघात क्यों कर रही है? मोदी सरकार गरीब कल्याण योजना में गरीबों को मदद करने से पहले गरीबों के जेब से पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि कर वसूली क्यों कर रही है? क्या मोदी सरकार किसानों को किसान सम्मान निधि में 500 रुपया महीना दिये इसलिये किसानों को सस्ते डीजल को महंगे दाम में बेच कर ज्यादा वसूली कर रही है? मोदी सरकार मजदूरों के घर वापसी में हुए खर्चे को भी डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ाकर आम जनता से वसूल रही है?
ठाकुर ने कहा कि सूट बूट वाली मोदी भाजपा की सरकार जब चंद पूंजीपतियों को मदद करती है तब वित्तीय संकट नहीं होता, रिजर्व बैंक के रिजर्व फंड से 1लाख 76 हजार करोड़ रुपया जबरदस्ती निकाल लिया जाता है और जब कोरोना संकटकाल में फंसे मजबूर हताश, परेशान, लाचार गरी,ब किसान, मजदूर, महिलाओं को मदद करने की बारी आती है तब वित्तीय अभाव होने का विधवा विलाप करती है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा लाख प्रयास करें मोदी सरकार के मुनाफाखोरी विदेश नीति में असफलता बेरोजगारी महंगाई नियंत्रित करने में विफलता और कोरोना महामारी के कारण हुई देश में तबाही बबार्दी के जिम्मेदारी से बच नहीं सकती है देश की जनता समझ चुकी है मोदी सरकार जनहित के मामलों में भी असफल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close