बिहारराज्य

 पुलिस हेडक्वार्टर ने भेजा निर्देश, बिहार के पुलिस के जवानों को कमांडो के तौर पर तैयार किया जाएगा

पटना 
बिहार के पुलिस के जवानों को कमांडो के तौर पर तैयार किया जाएगा। कमांडो की ट्रेनिंग, काउंटर इंसरजेंसी एंड एंटी टेररिस्ट स्कूल (सीआईएटी) में होगी। पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी को कमांडों ट्रेनिंग के लिए 5-5 जवानों का चयन करने और उन्हें हथियारों के साथ सीआईएटी स्कूल भेजने का निर्देश दिया है।

कमांडो ट्रेनिंग उन्हीं जवानों को दी जाएगी जो नए हैं। जिला पुलिस को हाल में ही बुनियादी प्रशिक्षण पूरा करनेवाले जवानों को कमांडो ट्रेनिंग के लिए चयनित करने के निर्देश दिए गए थे। इनकी उम्र 35 वर्ष से कम होनी चाहिए। कमांडो ट्रेनिंग के लिए जवानों का चयन बुनियादी प्रशिक्षण के दौरान उनके बेहतर प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है।  पहले यह प्रशिक्षण मार्च से मई के बीच होना था। पर कोरोना संक्रमण की वजह से तमाम तरह की ट्रेनिंग रोक दी गई। प्रत्येक जिला बल से 10-10 जवानों को प्रशिक्षण देना था पर संक्रमण का खतरा बरकरार रहने के चलते संख्या भी कम कर दी गई है। हर जिले से 5-5 जवानों को ही फिलहाल ट्रेनिंग के लिए बुलाया जा रहा है। चालीस पुलिस जिला से कुल 200 जवानों को फिलहाल प्रशिक्षण मिलेगा। 

दो महीने का होगा प्रशिक्षण
कमांडो ट्रेनिंग 60 दिनों का होगा। इसकी शुरुआत 16 दिसम्बर से होगी और 15 फरवरी 2021 तक चलेगा। प्रशिक्षण बीएमपी-2 डेहरी ऑन सोन और बोधगया स्थित बीएमपी-3 के सीआईएटी स्कूल में दिया जाएगा। इस दौरान जवानों को कड़े प्रशिक्षण के दौर से गुजरना होगा। उन्हें किसी भी परिस्थिति का सामना करने के गुर सिखाए जाएंगे। साथ ही अत्याधुनिक हथियार चलाने, मैप रीडिंग समेत अन्य विधाएं बताई जाएंगी। जवान इंसास, एसएलआर, मशीनगन, एलएमजी जैसे हथियार लेकर संस्थान में पहुंचेंगे। 

बिहार में पहले तीन सीआईएटी स्कूल थे 
बिहार में गृह मंत्रालय के सहयोग से तीन सीआईएटी स्कूल चलते थे। ये डुमरांव, डेहरी ऑन सोन और बोधगया में था। बाद में सभी को बंद कर दिया गया। राज्य सरकार ने अपने खर्च से डेहरी और बोधगया स्थित बीएमपी परिसर में सीआईएटी प्रशिक्षण केन्द्र शुरू किया। यहां जवानों को जंगल वारफेयर और कमांडो ट्रेनिंग दी जाती है। उन्हीं को प्रशिक्षण दिया जाता है, जो बुनियादी प्रशिक्षण पूरा कर चुके होते हैं। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close