विदेश

पेइचिंग में स्‍कूल बंद हालात बदतर , बढ़ा कोरोना वायरस का खौफ

पेइचिंग

 

चीन में कोरोना वायरस का खौफ और बढ़ता नजर आ रहा है। राजधानी पेइचिंग में सभी प्राइमरी और माध्‍यमिक स्‍कूलों को बंद कर दिया है और बच्‍चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होने जा रही है। यही नहीं राजधानी में चेतावनी का स्‍तर भी बढ़ाकर दो कर दिया गया है। पेइचिंग में अब तक कोरोना वायरस के 106 से ज्‍यादा मामले सामने आ चुके हैं। शहर में इमर्जेंसी लेवल-2 घोषित कर दिया गया है।

पेइचिंग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कि चीन की राजधानी में स्थिति ‘काफी विकट’ है जहां अधिकारियों ने प्रसार रोकने के लिए कई उपाय किए हैं और करीब 90 हजार लोगों की जांच जारी है। इसके अलावा जहां से नये संक्रमण की खबर है वहां के थोक बाजार में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। पेइचिंग महानगर के प्रवक्ता शू हेजियान ने कहा कि पिछले 22 घंटे में 27 नये मामले सामने आए हैं।

शू ने कहा कि घातक वायरस को फैलने से रोकने के लिए कड़े उपाय लागू किए गए हैं। उन्होंने कहा कि पिछले पांच दिनों में शिनफादी थोक बाजार में कोरोना वायरस फैलने के बाद नये मामलों की संख्या 106 हो गई है। अधिकारी म्युनिसिपल पार्टी कमिटी प्रोपेगैंडा डिपार्टमेंट में उपमंत्री भी हैं। उन्होंने कहा कि बीजिंग में महामारी की स्थिति ‘काफी विकट’ बनी हुई है।

कोरोना वायरस के 46 नये मामलों की पुष्टि
प्रवक्‍ता ने कहा, ‘यह हमारी शीर्ष प्राथमिकता है। हमें सभी उपायों को कड़ाई से लागू करना होगा और हर मिनट का इस्तेमाल करना होगा।’ इससे पहले चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने कोरोना वायरस के 46 नये मामलों की पुष्टि की थी जिसमें 27 पेइचिंग में हैं। पेइचिंग में फिलहाल हजारों लोगों की जांच जारी है और एक थोक बाजार से कई मामले अचानक सामने आने के बाद कई आवासीय इलाकों में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है।

एनएचसी ने मंगलवार को बताया कि सोमवार को कोविड-19 के 40 मामले सामने आए जिनमें 27 बीजिंग में, चार हेबेई प्रांत में और एक मामला सिचुआन प्रांत में है। एनएचसी ने बताया कि सोमवार को छह ऐसे मामले सामने आए जिनमें गंभीर लक्षण नहीं थे। सोमवार तक 110 ऐसे लोगों को पृथक-वास में रखा गया जिनमें गंभीर लक्षण नहीं हैं। अधिकारियों ने बताया कि पेइचिंग में कोरोना वायरस ‘विस्फोटक रूप से फैलने’ का खतरा है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close