छत्तीसगढ़

बस्तर के 106 ग्राम पंचायत जुड़े भारत नेट परियोजना से

जगदलपुर
भारत नेट परियोजना के प्रथम चरण में बस्तर जिले 106 ग्राम पंचायतों को जोड़ा जा रहा है। जिसमें विकासखण्ड बस्तर एवं विकासखण्ड तोकापाल के कुल 106 ग्राम पंचायतों में इन्टरनेट की सुविधा जल्द उपलब्ध होगी, इसके लिए 106 पंचायत में जमीनी स्तर का कार्य समाप्त कर लिया गया है। इस परियोजना के अंतर्गत ग्राम पंचायत भवन, स्कूल, राशन दुकान, पुलिस स्टेशन, हॉस्टल को इन्टरनेट की सेवा प्रदाय करना है। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में भारत नेट परियोजना के प्रथम चरण में जमीनी स्तर का कार्य सीएसई गवर्नेस सर्विसेस इंडिया लिमिटेड की टीम द्वारा किया जा रहा है।

भारत नेट परियोजना से ग्राम पंचायतों को जोड?े पर अब ग्राम वासियों को कॉमन सर्विस सेंटर एवं लोक सेवा गारंटी के अंतर्गत आने वाली समस्म सेवाएं ग्राम स्तर पर ही मिल पाएगी एवं ग्रामवासी स्वयं के लिए भी इन्टरनेट कनेक्टिविटी का उपयोग कर सकेंगे। ग्रामीण और व्यापारी वर्ग भी ग्राम के अंतर्गत चलने वाली वाई-फाई एवं ब्रॉड बैंड कनेक्टिविटी का उपयोग कर सकेंगे।

वन धन योजना में कार्यरत स्व-सहायता समूह के डाटा का डिजीटाईजेशन सीएससीवीएलई के माध्यम से प्रारंभ कर दिया गया है। इस डिजीटाईजेशन कार्य के द्वारा सेल्फ हेल्प ग्रुप के मेम्बर की जानकारी ट्रैफिड एप्लीकेशन में स्टोर की जा रही है। जिले में कुल दस वन धन विकास केन्द्रों के सेल्फ हेल्प ग्रुप का डिजीटाईजेशन किया जाना है। जिसमें से वन धन विकास केंद्र आसना एवं वन धन विकास केंद्र बकावंड में डिजीटाईजेशन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है अन्य वन धन विकास केन्द्रों में भी आईडी आने के पश्चात कार्य जल्द ही प्रारंभ कर दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close