राजनीतिक

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर बोला हमला, चीन ने RGF को पैसा क्यों दिया 

नई दिल्ली 
राजीव गांधी फाउंडेशन को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कांग्रेस पर हमलावर है. बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को गांधी परिवार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि चीन की तरफ से राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों दिया गया? साथ ही उन्होंने 10 सवाल भी पूछे हैं. जेपी नड्डा ने कहा कि कांग्रेस ने देश के साथ विश्वासघात किया है. जेपी नड्डा ने कहा कि मैं सोनिया गांधी को ये कहना चाहता हूं कि कोरोना के कारण या चीन की स्थिति के कारण मूल प्रश्नों से बचने का प्रयास न करें. भारत की फौज देश की और हमारी सीमाओं की रक्षा करने में सक्षम है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है.

'कांग्रेस ने विश्वासघात किया'
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि 130 करोड़ देशवासी जानना चाहते हैं कि कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए क्या-क्या काम किया और किस तरह से आपने देश के विश्वास के साथ विश्वासघात किया है. कुछ दिन पहले ट्वीट करके राजीव गांधी फाउंडेशन पर प्रश्न उठाए थे, आज पी. चिदंबरम कहते हैं कि फाउंडेशन पैसे लौटा देगा. जेपी नड्डा ने कहा कि देश के पूर्व वित्त मंत्री जो खुद बेल पर हों, उसके द्वारा ये स्वीकारना होगा कि देश के अहित में फाउंडेशन ने नियम की अवहेलना करते हुए फंड लिया.जेपी नड्डा ने कहा कि RCEP भारतीय किसानों, MSME क्षेत्र और कृषि के हित में नहीं है और इस तरह पीएम मोदी इसमें शामिल नहीं हुए. बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस से सवाल किया कि RCEP का हिस्सा बनने की क्या जरूरत थी? चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा 1.1 बिलियन अमेरीकी डॉलर से बढ़कर 36.2 बिलियन अमेरीकी डॉलर कैसे हो गया? उन्होंने पूछा कि INC और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के बीच क्या संबंध है? देश जानना चाहता है.

बीजेपी अध्यक्ष ने पूछा कि देश यह जानना चाहेगा कि 2005-2008 के बीच प्रधानमंत्री राहत कोष से आरजीएफ पैसा क्यों डायवर्ट किया गया? यूपीए शासन में कई केंद्रीय मंत्रालयों, सेल, गेल, एसबीआई, अन्य पर राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा देने के लिए दबाव बनाया गया. देश की जनता इसका कारण जानना चाहती है. जेपी नड्डा ने कांग्रेस से सवाल किया कि पीएम नेशनल रिलीफ फंड का ऑडिटर कौन है? ठाकुर वैद्यनाथन एंड अय्यर कंपनी ऑडिटर थी. रामेश्वर ठाकुर इसके फाउंडर थे. वो राज्य सभा के सांसद थे और 4 राज्यों के राज्यपाल रहे. कई दशकों तक उसके ऑडिटर रहे. देश जानना चाहता है कि ऐसे लोगों ऑडिटर बनाकर क्या सरकार करना चाह रही थी. पीएम नेशनल रिलीफ फंड में एक ट्रस्टी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष भी है.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close