देश

भारत में जल्द हो सकती है PUBG Mobile की वापसी, चीनी कंपनी से फ्रेंचाइजी छिनी

नई दिल्ली
भारत सरकार ने हाल ही में देश में PUBG Mobile पर बैन लगा दिया था। पबजी के अलावा सरकार ने 117 अन्य चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया था। पबजी मोबाइल भारत में बेहद पॉप्युलर गेम है। अब पबजी मोबाइल गेम के फैंस के लिए अच्छी खबर है। पबजी मोबाइल की जल्द ही भारत में वापसी हो सकती है। दरअसल पबजी कॉर्पोरेशन ने चीन के टेनसेंट गेम्स से नाता तोड़ने का फैसला किया है।

क्या है पूरा मामला ?
पबजी मूल रूप से दक्षिण कोरिया में डिवेलप किया गया गेम है। इस गेम के मोबाइल वर्जन की फ्रेंचाइजी चीन Tencent Games ने ले रखी है। अब भारत में चाइनीज ऐप्स के बैन होने के बाद पबजी की पेरेंट कंपनी ने भारत में पबजी के ऑपरेशंस अपने हाथ में लेने का फैसला किया है और भारत में टेनसेंट गेम्स की फ्रेंचाइजी कंपनी सस्पेंड कर दी है।

साउथ कोरियन कंपनी संभालेगी PUBG की कमान
टेनसेंट गेम्स से नाता तोड़ने के बाद अब पबजी की सीड कंपनी भारत में पबजी से जुड़े ऑपरेशंस को अंजाम देगी। इसका मतलब यह भी है कि भारत में पबजी मोबाइल पर लगा बैम जल्द ही हटाया जा सकता है।

सरकार ने लगाया 118 चाइनीज ऐप्स पर बैन
सरकार ने ऐप्स पर बैन लगाने वाले आदेश में बताया है कि इन ऐप्स की ओर से कलेक्ट और शेयर किया जा रहा डेटा, यूजर्स के साथ-साथ राष्ट्र की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकता था। बैन किए गए 118 ऐप्स में कई पॉप्युलर नाम शामिल हैं। लॉकडाउन के दौरान पॉप्युलर हुए लूडो और कैरम जैसे गेम्स पर भी बैन लगाया गया है। लिस्ट में लूडो ऑल स्टार और लूडो वर्ल्ड-लूडो सुपरस्टार के अलावा चेस रस और कैरम फ्रेंड्स भी शामिल है।

टिकटॉक पर भी लग चुका है बैन
यह पहली बार नहीं था जब सरकार ने चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाया है। इससे पहले कंपनी 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा चुकी है। इसमें पॉप्युलर शॉर्ट विडियो मेकिंग ऐप TikTok भी शामिल था। बीते कुछ समय से चीन और भारत के बीच में सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। इस वजह से सरकार ने ऐप्स को बैन करने का फैसला किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close