दिल्ली/नोएडाराज्य

महिला ने उसे मोबाइल ले जाने से मना कर दिया, उतार दिया मौत के घाट, पबजी गेम खेलने का शौकीन

नई दिल्ली                                                                                                                                                                                                 
दिल्ली के प्रशांत विहार पुलिस ने महिला की हत्या के मामले को सुलझाते हुए नाबालिग को पकड़ा है। आरोपी महिला के बेटे का दोस्त है। प्राथमिक जांच में सामने आया है कि मोबाइल चोरी करते हुए पकड़े जाने पर नाबालिग ने अपराध को अंजाम दिया। जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि किशोर पबजी गेम खेलने का शौकीन है। वह नशे का भी आदी है। दोस्तों के साथ नशा करते वक्त वह अक्सर यह गेम खेला करता था। वहीं, नाबालिग बच्चे ने घटना को तब अंजाम दिया, जब महिला ने उसे मोबाइल ले जाने से मना कर दिया।

जानकारी के अनुसार, 45 वर्षीय सोनिया 16 वर्षीय बेटे के साथ रजापुर गांव में रहती थी। शुक्रवार शाम को जब बेटा खेलकर लौटा तो उसने पाया कि उसकी मां खून से लथपथ पड़ी है। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। महिला के पति मदन लाल की शिकायत पर हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज कर एसीपी प्रशांत विहार विकास श्योकंद की देखरेख में मामले को सुलझाने के लिए इंस्पेक्टर संजय कुमार और एसआई संजय राणा की टीम गठित की गई।

डीसीपी पीके मिश्रा ने बताया कि आसपास के लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के बाद सोनिया के बेटे का दोस्त नजर आया। वही घटना के वक्त घर में गया था। जांच में मालूम पड़ा कि घर से सोनिया के बेटे का मोबाइल भी गायब है। शनिवार को मोबाइल में दूसरा सिम लगाकर चालू किया गया तो पुलिस को एक और सुराग मिला।

जांच में पाया गया कि मोबाइल को एक किशोर ने रेहड़ी वाले को साढ़े तीन हजार में बेचा था। रेहड़ी वाले ने फुटेज देखकर बताया कि इसी किशोर से मोबाइल खरीदा था। डीसीपी पीके मिश्रा ने बताया कि जानकारी के बाद पुलिस ने किशोर को हत्या में प्रयुक्त चाकू के साथ दबोच लिया।

नशे की हालत में हत्या

पुलिस को जांच के दौरान पता चला कि किशोर की महिला के बेटे से दोस्ती थी। वह अक्सर उसके घर आता जाता था। शुक्रवार की शाम सोनिया बिस्तर पर लेटकर कॉमेडी शो देख रही थी, तभी नाबालिग नशे की हालत में वहां पहुंचा। वह भी टीवी देखने लगा। मौका देखकर वह मोबाइल लेकर जाने लगा। विरोध करने पर चाकू से सोनिया का गला रेत दिया। वह मोबाइल का पासवर्ड जानता था, इसलिए उसे बदलकर रेहड़ी वाले को बेच दिया और कुछ रुपये अपने परिजनों को दे दिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close