देश

मुंबई में फिर दौड़ी लोकल, तमाम बातों का रखना होगा ध्यान

मुंबई
करीब ढाई महीने के अंतराल के बाद मुंबई में एक बार फिर लोकल ट्रेन सेवाओं की शुरुआत की गई है। रेलवे के अनुसार, इन ट्रेनों में फिलहाल इसमें सफर की इजाजत सिर्फ जरूरी स्टाफ को होगी जिन्हें राज्य सरकार चिह्नित करेगी। सेंट्रल रेलवे की मेन और हार्बर दोनों लाइनों की सेवाएं शुरू की गई हैं और ये माना जा रहा है कि इससे करीब 1.25 लाख जरूरी स्टाफ को सफर में सहूलियत होगी।

15-15 मिनट पर चलेंगी ट्रेनें
सोमवार को लोकल ट्रेनों की शुरुआत के बाद स्टेशन पर तमाम बुकिंग ऑफिस को खोला गया है। इसके अलावा स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए पुलिसकर्मियों की तैनाती कराई गई है। रेलवे के अनुसार 12 डिब्बों वाली 73 लोकल ट्रेनें चर्चगेट और दहाणु रोड के बीच (अप और डाउन) तय प्रोटोकॉल और स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रसीजर के तहत चलेंगी। इनमें से 8 ट्रेनें विरार से दहाणु के बीच में चलेंगी। ये ट्रेनें सुबह 5:30 बजे से रात 11:30 बजे तक 15-15 मिनट के अंतराल पर चलेंगी और इनमें सिर्फ जरूरी स्टाफ (essential staff) को जाने की इजाजत होगी। ये चर्चगेट से बोरीवली फास्ट और उसके आगे स्लो होंगी।

दिखाना होगा सरकारी आईडी कार्ड
वहीं, सेंट्रल रेलवे की 200 ट्रेनें (100 अप+100 डाउन) फास्ट होंगी जो CSTM से कसारा, करजत, कल्याण, ठाणे और CSTM से पनवेल जाएंगी। दोनो लाइनों पर सफर के लिए टिकट लेते वक्त सरकारी आईडी कार्ड दिखाना होगा। जिनके पास पहले से सीजन टिकट पास था, उन्हें एक्सटेंशन देने का फैसला भी किया गया है। स्टेशन में एंट्री आईडी कार्ड दिखाने पर ही मिलेगी। स्टाफ को QR आधारित ई-पास दिए जाएंगे जिनमें कलर कोड भी होगा।

ट्रेन में 700 यात्रियों की अनुमति
इसके लिए राज्य सरकार को सुनिश्चित करना होगा कि जिन लोगों की सफर की इजाजत हो वे बीमार न हों और कंटेनमेंट जोन से ना आ रहे हों। साथ ही यह भी देखना होगा कि दफ्तरों का समय इस हिसाब से तय करना होगा कि एक जगह से आने वाले लोगों की वजह से किसी समय पर ट्रेन में या स्टेशन पर ज्यादा भीड़ न हो। इसके अलावा डिब्बों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए 1200 की क्षमता वाले डिब्बों में सिर्फ 700 लोगों को जाने की इजाजत होगी।

ट्रेनों के अंदर पहनना होगा मास्क
रेलवे ने लोगों से भी COVID-19 के लिए जारी मेडिकल और सामाजिक नियमों का पालन करने की अपील की है और किसी भी अफवाह पर भरोसा नहीं करने को कहा है। इसके अलावा ट्रेनों में मास्क पहनकर यात्रा करने की सलाह दी गई है।

स्टेशन पर मेडिकल स्टाफ की तैनाती
स्टेशन के बाहर भीड़ न लगे और जिन लोगों को इजाजत मिली है उन्हें आने-जाने में भीड़ से होते हुए स्टेशन के अंदर न आना पड़े, इसके लिए बाहर न पार्किंग की इजाजत होगी और न वेंडर्स की। स्टेशन को आने वाले रास्तों पर भी इसका ख्याल रखा जाएगा। हर स्टेशन पर मेडिकल स्टाफ के साथ ऐंबुलेंस तैनात की जाएंगी ताकि इमर्जेंसी में तैयार रहा जा सके।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close