भोपालमध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री चौहान ने मनुआभान टेकरी पर किया जलशोधन संयंत्र का लोकार्पण

भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल की मनुआभान टेकरी पर अमृत परियोजना में निर्मित जलशोधन संयंत्र का लोकार्पण किया। नगर निगम भोपाल ने 50 एमएलडी क्षमता के इस संयंत्र का निर्माण कर बड़ी झील से नगर के विभिन्न इलाकों में उच्च स्तरीय टंकियों के माध्यम से जलप्रदाय करने के लिए करवाया है। इस संयंत्र से करीब साढ़े तीन लाख आबादी को शुद्ध और सुचारू पेयजल मिलेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार का लक्ष्य प्रत्येक घर पर स्वच्छ पेयजल पहुंचाना है। भोपाल के लांबाखेड़ा, संत हिरदाराम नगर, भानपुरा सहित गोविंदपुरा, नरेला, हुजूर और बैरसिया क्षेत्र के अन्य कई इलाकों को नये संयंत्र का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री चौहान ने राजधानी भोपाल को मिली इस सौगात के लिए नागरिकों को बधाई दी। उन्होंने अधिकारियों को संयंत्र के सुचारू संचालन के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री चौहान ने जलशोधन संयंत्र के साथ ही इंटेकवेल एवं अलग-अलग स्थानों पर बनी 23 उच्चस्तरीय टंकियों का संयुक्त लोकार्पण किया।

लोकार्पण कार्यक्रम में नागरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, प्रोटेम स्पीकर मध्यप्रदेश विधानसभा रामेश्वर शर्मा, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, सुरजीत सिंह चौहान, कमिश्नर भोपाल कविन्द्र कियावत, पुलिस महानिरीक्षक उपेन्द्र जैन, कलेक्टर भोपाल अविनाश लवानिया और अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

मनुआभान जलशोधन संयंत्र : एक नजर में

मनुआभान जलशोधन संयंत्र की लागत 13.90 करोड़ है। करबला इंटेकवेल और पंप हाउस की लागत 5.30 करोड़, रॉ वाटर राइजिंग मैन बिछाने की लागत 12.10 करोड़, 5 उच्चस्तरीय टंकियों की निर्माण लागत 7 करोड़, जल वितरण नालिकाओं और फीडरमैन बिछाने की लागत 28.50 करोड़ है। पंप हाउस जलशोधन संयंत्र तक 8 एमएल व्यास के 5630 मीटर पाईप का उपयोग किया गया है। विभिन्न टंकियों को भरने के लिए 300 से 800 मीटर व्यास की फीडर लाइन बिछाई गई है।

मनुआभान पहाड़ी पर पौधरोपण

मुख्यमंत्री चौहान ने इस अवसर पर परिसर में कचनार का पौधा रोपा। अन्य अतिथियों ने भी पौधे लगाए। कमिश्नर भोपाल ने बताया कि इस पहाड़ी पर विविध प्रजातियों के पौधे रोपे जा रहे हैं।

भारतमाता मंदिर प्रोजेक्ट

इस अवसर पर मुख्यमंत्री चौहान को नगर निगम अधिकारियों ने टेकरी परिसर में निर्मित होने वाले भारत माता मंदिर प्रोजेक्ट की भी जानकारी दी। यहां भारत माता की मूर्ति की स्थापना के साथ ही स्वतंत्रता सेनानियों की तस्वीरों और प्रतिमाओं को प्रदर्शित करने की भी योजना है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close