छत्तीसगढ़

राज्यपाल को महंत रामसुंदर दास ने रथयात्रा में शामिल होने का दिया निमंत्रण

रायपुर
राज्यपाल सुअनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में दूधाधारी मठ रायपुर के प्रमुख राजेमहंत राम सुन्दरदास ने सौजन्य मुलाकात की। उन्होंने राज्यपाल को पुरानी बस्ती में आयोजित ऐतिहासिक रथयात्रा में शामिल होने का निमंत्रण दिया। राज्यपाल ने उन्हें शाल-श्रीफल से सम्मानित किया।

राज्यपाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ को माता कौशिल्या की जन्मभूमि मानी जाती है। यहां पर कई संतों ने जन्म लिया तथा अपना महत्वपूर्ण समय भी व्यतीत किया है। संतों और महापुरूषों के आशीर्वाद के फलस्वरूप प्रदेश प्रगति की राह में आगे बढ़ेगा। उन्होंने राज्यपाल को बताया कि दूधाधारी मठ रायपुर का एक प्राचीन मंदिर है। दूधाधारी मठ द्वारा टूरी हटरी पुरानी बस्ती में स्थित ऐतिहासिक जगन्नाथ मंदिर से रथयात्रा निकाली जाती है। दूधाधारी मठ मंदिर में भगवान बालाजी स्वामी का चतुभुर्जी स्वरूप, राम पंचायत जी और संकटमोचन हनुमान जी की मूर्ति विराजमान हैं। मठ में माता सीता रसोई है, जहां साधु-संतों और आगंतुकों के लिए भोजन की व्यवस्था होती है। दूधाधारी महाराज, जिनके नाम पर दूधाधारी मठ का नाम पड़ा है, उनका समाधि स्थल है। इस अवसर पर मठ के अन्य प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close