छत्तीसगढ़

रायगढ़ कैश वैन लूटपाट के आरोपी गिरफ्तार

रायगढ़। रायगढ़ में शुक्रवार को दिनदहाड़े कैश वैन के ड्राइवर को गोली मारकर वैन की रकम लूटकर भाग जाने वाले मुजरिमों को पुलिस ने दस घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया है। दोनो आरोपी बिहार के हैं। पुलिस की सफलता पर राज्य के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने टीम को बधाई दी है।
आरोपियों के पकड़े जाने के बाद पूरे घटनाक्रम की रायगढ़ एसपी संतोष सिंह ने जानकारी दी कि थाना कोतरारोड क्षेत्र अंतर्गत स्टेट बैंक एटीएम में पैसा डालने आए कैश वैन को टारगेट कर ड्राइवर की हत्या कर 14.50 लाख लूट कर फरार हुए दोनों आरोपियों को कोतरारोड पुलिस के साथ बनाई गई संयुक्त टीम ने 10 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद धर दबोचा। पुलिस को मिली सफलता के पीछे वरिष्ठ अधिकारियों की तत्परता पूर्वक कार्यवाही, अंतर अंतर्राज्यीय जिलों से तालमेल कर गठित टीम को उचित दिशा निर्देशन एवं रातभर चली जिला पुलिस की सघन नाकेबंदी, डोर-टू-डोर पतासाजी के कारण आरोपीगण जिले से भाग नहीं पाए और दोनों को लूट की रकम व हथियारों समेत गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली है। चुनौती भरे मिशन अंजाम देने में करीब 50 हथियारबंद जवान एवं अधिकारीगण शामिल थे।
जानकारी के अनुसार 3 जुलाई को सुबह करीब 11.30 बजे केवडाबाडी स्टेट बैंक के मुख्य शाखा से 3,14,00,000 रुपए पेटी मे भरकर कर्मचारी नवरतन रात्रे गनमैन विनोद पटेल, चालक अरविन्द पटेल एवं भीषण कुमार रात्रे के साथ सीएमएस वाहन में भरकर एटीएम में रकम डालते हुए किरोड़ीमल एसबीआई एटीएम 1.45 बजे पहुंचे। नवरत्न रात्रे पेटी से 13,00,000 रू. निकालकर बैग मे रखकर एटीएम में डालने भीषण के साथ एटीएम के अन्दर गया था एटीएम के हुड को खोल रहा था उसी समय बाहर गोली चलने की आवाज आई। तभी दो नकाबपोश शटर को उठाकर गोली चलाकर बैग मे भरा 13,00,000/- रू. एवं अन्य आईपीसी से बचा एक्सेस रकम 1,50,000 रुपए लगभग  14,50,000 रुपए को लूटकर वैन के चालक अरविन्द पटेल की हत्या कर एवं गनमैन विनोद पटेल को हत्या करने के नियत से गोली मारकर मोटर सायकल से भाग गये। घटना के संबंध में थाना कोतरारोड़ में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध अप.क्र. 125/2020 धारा 302,307,397 आईपीसी 25,27 आर्म्स एक्ट. पंजीबद्ध किया गया।
सूचना पर बिलासपुर रेंज आई.जी. दिपांशु काबरा एवं एसपी रायगढ़ संतोष कुमार सिंह द्वारा पूरे जिले को सील कराकर जिले के अंदर 50 नाकेबंदी पाइंट बनाकर रात भर वाहनों एवं आने-जाने वालों की सघन तलाशी अभियान चलाया गया। वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सरहदी जिले व सरहदी राज्य में नाकेबंदी कराकर अंतर्राज्यीय जिलों के पुलिस अधीक्षकों से तालमेल बिठाया गया। सभी 8 टीमों को अलग-अलग कामों में लगाया गया। पुलिस कन्ट्रोल रूम, जिंदल कम्पनी द्वारा लगाये गये सीसीटीवी कैमरों सहित शहर की सैकडो सीसीटीवी कैमरों के फुटेज चेक किया गया। आरोपियों के शहर से बाहर नहीं निकलने की जानकारी पुख्ता होने तथा केराझर गांव के पास आरोपियों का लास्ट लोकेशन देखा गया था। इसी बीच स्टेट बैंक शाखा में पदस्थ एक आरक्षक के मुखबिर द्वारा सूचना दिया कि दो संदिग्ध केराझर में देखे गए हैं। तब केराझर एवं पास के दो गांवों को पुलिस की टीमें टारगेट कर आर्म्स लिये हुये 50 जवान की टीम गांव को कार्डन किये, कुछ जवान सीएसपी अविनाश सिंह ठाकुर के साथ बीपी जैकेट हथियार लैस होकर एक-एक कर घरों की तलाशी ले रहे थे। गांववालों द्वारा पुलिस पार्टी के भरपूर सहयोग किया जा रहा था। तभी पुलिसपार्टी को एक कमरे अंदर दो संदिग्ध मिले, जिसमें एक युवक ने पुलिस पार्टी पर पिस्टल तान दिया,जान जोखिम में डाल पुलिसवालों ने झूमाझटकी कर हथियार पकड़े युवक को पटककर उससे हथियार छीनकर दोनों को हिरासत में लिये।
आरोपी सुधीर कुमार सिंह पिता झूलन राय उम्र 23 साल ग्राम खम्हौरी जिला सिवान बिहार हाल मुकाम सूर्या कॉम्प्लोक्स पतरापाली कोतरारोड और दूसरा पिन्टु वर्मा उर्फ विराट सिंह उर्फ छोटू उम्र 18 साल निवासी बिगबाजार थाना रामगढ़ जिला कैमूर बिहार से पूछताछ करने पर सुधीर सिंह ने बताया कि उसके पिता एवं भाई रायगढ़ में ही रहते हैं सुधीर जब भी रायगढ़ आता तो कैश वैन को देख कर उसे लूटकर 1 करोड रुपए कमाने का लालच मन में बना लिया और इस योजना को गांव जाकर अपने साथी पिन्टु वर्मा को बताया और लूट की प्लान के साथ 02 पिस्टल, 02 देसी कट्टा, 3 मैगजीन में 26 राउंड, 02 जिंदा कारतूस, 02 बटन चाकू के साथ प्री प्लानिंग कर कैश वैन को लूटने आए थे। पिछले 15 दिनों से पूरे जिले की रैकी किये, 4 दिनों से उक्त कैशवेन को रैकी कर रहे थे।  मोटरसाइकिल का नंबर प्लेट निकालकर उसमें बिना नंबर लिखे नंबर प्लेट लगाए थे। दोनों को पुलिस ने बरामद किया है। घटना के समय आरोपियों द्वारा 06 राउंड चलाया गया था। रात्रि दोनों लूट की रकम 14,50,000 रुपएको आधा-आधा बांट लिए थे जिनके मेमोरेंडम पर लूट की रकम उनके हथियारों के साथ बरामद किया गया है। आरोपी सुधीर पूर्व में अपने अन्य साथियों के साथ रायगढ़-ढिमरापुर मार्ग पर स्थित युनियन बैंक को लूटपाट करने की नाकाम कोशिश करना स्वीकार किया है। जिला पुलिस आरोपियों के पूर्व क्राईम हिस्ट्री खंगाल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close