बिहारराज्य

 रेलवे कर रहा व्यवस्था, रेलवे परीक्षा में फर्जीवाड़ा अब नहीं होगा आसान

 पटना 
रेलवे भर्ती बोर्ड की एनटीपीसी परीक्षा में इस बार फर्जीवाड़ा करना आसाना नहीं होगा। इस बार उम्मीदवारों की फोटो कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखएगी। फॉर्म में भरे हुए फोटो से उसका मिलान कराया जाएगा। इसमें अगर थोड़ा भी कंफ्यूजन हुआ तो लड़की की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया जाएगा। अभी तक परीक्षार्थी पहले स्कॉलर को बैछाने के लिए फोटो को ऐसा स्केन कर देते थे जिसमें कुछ पता ही नहीं चलता था।
 
स्कॉलर बैठाकर परीक्षा दिलाकर पास करा देते थे। इस बार बॉयोमेटिक्स उपस्थिति के अलावा उम्मीदवारों को कई अन्य प्रक्रियाओं से भी गुजरना होगा। यह परीक्षा ऑनलाइन तीन चरणों में होगी। परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होगी। 

इसके अलावा एनटीपीसी परीक्षा में एक और बड़ा बदलाव किया गया है। वैसे उम्मीदवारों जिन्होंने जिस पद के लिए अपनी उम्मीदवारी की है, उन्हें उसी में चयन किया जाएगा। पहले एक परीक्ष के माध्यम से सभी पदों के िलए उम्मीदवार चयनित कर लिए जाते थए। जैसे एएसएम, गुड्स गार्ड्स, सीए. टीए आदी में कई पदों के लिए एक ही परीक्षा से चयनित हो जाते थे। इस बार मुख्य परीक्षा में उम्मीदवारों को अंकों के आधार पर प्रत्येक पद के लिए चयनित किया जाएग। मुख्य परीक्षा में अलग-अलग पदों के लिए परीक्षा देनी होगी।
 
20 गुणा उम्मीदवारों का चयन
प्रारंभिक के बाद मुख्य परीक्षा के लिए 20 गुणा उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। इस बार बिहार से 15 लाख 62 हजार से अधिक उम्मीदवार हैं। वहीं देशभर से उम्मीदवारों की संख्या एक करोड़ 25 लाख से अधिक होने की उम्मीद है। इसके अलावा एनटीपीसी की परीक्षा में परीक्षार्थी को वन नाइट सफर जाने वाला सेंटर दिया जाएगा। कम से कम 500 किमी की दूरी होगी।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close