ग्वालियरमध्यप्रदेश

रोज 24 किलोमीटर साइकल चलाकर जाती थी स्कूल, 10वीं में हासिल किए 98.5 फीसदी

भिंड

MP board 10th Result: रोज 24 किलोमीटर साइकल चलाकर जाती थी स्कूल, 10वीं में हासिल किए 98.5 फीसदीकहते हैं मेहनत का फल हमेशा मीठा होता है, इस कहावत सही साबित किया है मध्य प्रदेश की 15 वर्षीय छात्रा रोशनी भदोरिया ने। शनिवार को जारी मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं के नतीजों में 98.5 फीसदी मार्क्स हासिल किए। वो मेरिट लिस्ट में आठवें स्थान पर हैं। खास बात ये है कि भिंड जिले की रोशनी का स्कूल उनके घर से करीब 12 किलोमीटर दूर था, वो रोजाना करीब 24 किलोमीटर साइकल चलाकर स्कूल आती-जाती थीं। उनकी इस मेहनत का आखिरकार उन्हें फल मिला और अब वो टॉपर्स की लिस्ट में जगह बनाने में कामयाब रहीं।

अजनोल गांव की रोशनी ने किया कमाल
15 साल की रोशनी भिंड जिले के अजनोल गांव में रहती हैं। उनका स्कूल उनके घर से करीब 12 किलोमीटर दूर मेहगांव इलाके में है। भीषण गर्मी हो या फिर बारिश या सर्दी का मौसम हो, रोशनी साइकल से रोजाना स्कूल आती-जाती थीं। रोशनी ने बताया कि कई बार ऐसी भी स्थिति आई जब भारी बारिश की वजह से उनके गांव की सड़कों पर पानी भर जाता था, ऐसे में वो घर नहीं आ पाती थीं और अपने रिश्तेदार के घर पर रूकती थीं। कुछ दिन वहां रहने के बाद जब स्थिति सुधरती तब वो अपने गांव-अपने घर पर आती थीं।

24 किलोमीटर साइकल चलाकर आती-जाती थी स्कूल
रोशनी के 36 वर्षीय पिता पुरुषोत्तम भदौरिया पेशे से एक किसान हैं। जब टीओआई ने उनसे बात की तो वो अपनी बेटी के इस कामयाबी की वजह से भावुक हो उठे। 15 वर्षीय रोशनी ने गणित और विज्ञान विषय में 100 में से 100 अंक हासिल किए हैं। उन्होंने बताया कि वो समाज में बदलाव लाना चाहती हैं, यही वजह है कि वो आईएएस अधिकारी बनना चाहती हैं। भिंड खासकर लड़कियों के लिए बहुत पिछड़ा इलाका है।

पिता बोले- बेटी ने सभी को गौरवान्वित किया
रोशनी के पिता ने कहा कि उनकी बेटी ने सभी को गौरवान्वित किया है। शनिवार को 10वीं बोर्ड के नतीजे आने के बाद उन्होंने कहा कि मेरे सभी बच्चे काफी अच्छे छात्र हैं। उनका पढ़ाई में मन लगता है। लेकिन इस लड़की ने सभी गर्व करने का मौका दिया है। इस इलाके में ऐसा कोई भी नहीं जिसने इतने अंक हासिल किए हों।

आईएएस बनना चाहती हैं रोशनी
आगे की योजनाओं को लेकर पूछे गए सवाल पर रोशनी के पिता ने कहा कि मैं चाहता हूं कि वो आगे भी और पढ़ाई करें, मैं चाहता हूं कि उसके पास बड़ी-बड़ी डिग्री हो और वो बड़े शहरों की बड़ी-बड़ी फर्म में काम करें। बता दें कि मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं के नतीजे आ चुके हैं। शनिवार को जारी किए गए रिजल्ट (mp board 10th result 2020) में कुल 62.84 फीसदी परिक्षार्थी पास हुए हैं। एक बार फिर से लड़कियों ने बाजी मारी है। इस बार 65.87 फीसदी छात्राएं और 60.9 फीसदी छात्रों ने परीक्षा में सफलता हासिल की है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close