उत्तर प्रदेशराज्य

विकास दुबे के करीब पहुंची पुलिस, यूपी की सीमाओं पर चौकसी बढ़ी

 कानपुर लखनऊ 
फरीदाबाद में मंगलवार को पुलिस के हाथ से विकास दुबे के फिसलने के बाद एक्शन में आई पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। विकास दुबे फरीदाबाद से मध्य प्रदेश या नेपाल भागने की फिराक में है, इसे देखते हुए मध्य प्रदेश के अलावा उत्तराखंड व नेपाल से सटी उत्तर प्रदेश की सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

पुलिस के ताबड़तोड़ एक्शन में जहां बुधवार तड़के विकास का करीबी गुर्गा अमर दुबे पुलिस मुठभेड़ में हमीरपुर में मार गिराया गया वहीं कानपुर के चौबेपुर में एक और हमलावर को मुठभेड़ में दबोच लिया गया। इसके अलावा फरीदाबाद से तीन को गिरफ्तार किया गया है। देर शाम कानपुर में भी ताबड़तोड़ दबिश देकर पुलिस ने संजू दुबे सहित कई को दबोच लिया। संदिग्ध भूमिका के कारण निलंबित चल रहे चौबेपुर एसओ और एक एसआई को भी गिरफ्तार किया गया है। इतना ही नहीं पुलिस ने कुख्यात हिस्ट्रीशीटर पर इनाम बढ़ाकर ढाई से पांच लाख रुपये कर दिया है।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह हमीरपुर के मौदहा में विकास का करीबी सहयोगी 50 हजार का इनामी अमर दुबे एसटीएफ व स्थानीय पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया। उसके पास से एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल व कारतूस बरामद हुए हैं। हमीरपुर के पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार के मुताबिक मुखबिर की सूचना पर एसटीएफ और स्थानीय पुलिस ने अमर को घेर लिया। इस दौरान उसने पुलिस पर गोलीबारी कर दी, जिसमें मौदहा के इंस्पेक्टर और एसटीएफ का एक कॉन्स्टेबल घायल हो गए। जवाबी कार्रवाई में अमर को गोलियां लगीं और अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उन्होंने बताया कि अमर विकास दुबे गैंग का तीसरा सदस्य है जो मुठभेड़ में मारा गया है।

फरीदाबाद में यह हुई कार्रवाई
एडीजी ने बताया कि हरियाणा पुलिस ने फरीदाबाद में मुठभेड़ के दौरान गैंगस्टर विकास दुबे के साथी कार्तिकेय उर्फ प्रभात, अंकुर और उसके पिता श्रवण को गिरफ्तार किया है। उनके पास से पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद लूटी गई पिस्टल मिली है। इसके अलावा दो अन्य पिस्टल और 44 कारतूस भी बरामद किए गए हैं।

मुठभेड़ में दबोचा गया नामजद अपराधी
कानपुर के चौबेपुर इलाके में मंगलवार की देर रात 50 हजार रुपये का एक अन्य नामजद अपराधी श्यामू बाजपेयी भी गिरफ्तार किया गया है। साथ ही मामले के एक अन्य अभियुक्त जहान यादव तथा उसके साथी संजीव दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

पूर्व एसओ व एसआई गिरफ्तार
बिकरू कांड में संदिग्ध भूमिका और विकास दुबे से संबंधों के चलते चौबेपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और एसआई केके शर्मा को बुधवार शाम को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हम लोग अपने साथियों की शहादत को व्यर्थ नहीं होने देंगे और जो भी कार्रवाई होगी, वह कानून के दायरे में होगी। ऐसी होगी कि दोषियों को हमेशा पछतावा होगा। -प्रशांत कुमार, एडीजी लखनऊ

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close