उत्तर प्रदेशराज्य

विकास दुबे, प्रकाश दुबे ने एंबेसडर गाड़ी को विनीत पांडेय नाम के व्यक्ति से जबरन छीन थी

लखनऊ 
 लखनऊ में विकास दुबे के भाई के घर से बरामद सरकारी एंबेसडर गाड़ी में नया मोड़ आया है. लखनऊ पुलिस ने विकास दुबे और भाई दीप प्रकाश दुबे पर एक और मुकदमा दर्ज किया है. दोनों पर रंगदारी और वसूली का एक और मुकदमा दर्ज हुआ है. आरोप है कि विकास दुबे और उसके भाई प्रकाश दुबे ने धमकाते हुए एंबेसडर गाड़ी को विनीत पांडेय नाम के व्यक्ति से जबरन छीन लिया था, जिसके बाद पीड़ित के द्वारा तहरीर देकर मुकदमा दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के वृंदावन कालोनी थाना पीजीआई के रहने वाले विनय पांडेय ने तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करवाया है जिसमें कहा है कि यूपी 32 बीजी 156 नंबर की गाड़ी पीड़ित ने नीलामी में खरीदी थी जिसके बाद आरोपी विकास दुबे और उसके भाई ने उससे जबरन यह गाड़ी छीन ली थी और घर आकर धमकाया भी था.

पुलिस के मुताबिक, परिवहन विभाग द्वारा 2009 में अंबेसडर कार UP 32 BG 0156 विनीत पांडे नामक व्यक्ति ने नीलामी में खरीदी थी. विनीत पांडेय ने बताया, 'मेरे द्वारा एंबेसडर कार नीलामी में लेने के बाद विकास दुबे अपने भाई दीपक और दो अन्य साथियों के साथ घर आया था और धमकाते हुए कहा था कि सरकारी गाड़ी जो तुमने नीलामी में ली है मुझे दे दो.'

विनीत ने आगे बताया, 'डरते हुए मैंने अपनी गाड़ी की चाबी और गाड़ी विकास दुबे को सौंप दी. गाड़ी ले जाने के बाद मैं कई बार विकास दुबे और दीपक के घर कई बार गया. मैंने उनसे अपनी गाड़ी मांगी तो उन्होंने मुझे धमकाकर भगा दिया.'

पुलिस ने रंगदारी, वसूली और धमकी का मुकदमा लिखा
अब कृष्णा नगर थाने में पीड़ित विनय पांडे ने तहरीर दी है इसके बाद लखनऊ पुलिस ने आरोपी विकास दुबे और उनके भाई दी प्रकाश दुबे पर धारा 386, 420, 467, 468, 471, 171 IPC की गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की है.

एसीपी कृष्णानगर दीपक सिंह के मुताबिक, पीड़ित ने सोशल मीडिया पर खबर देखने के बाद कृष्ण नगर थाने पहुंचकर तहरीर दी है और जिसमें जिक्र किया है कि उसने एक गाड़ी नीलामी में खरीदी थी जिसके बाद दोनों भाई विकास दुबे और प्रकाश दुबे घर आकर उसको धमकाकर गाड़ी अपने साथ ले गए थे. पुलिस ने रंगदारी, वसूली और धमकी का मुकदमा लिखा है और मामले की जांच शुरू कर दी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close