राजनीतिक

विद्यार्थियों की परेशानी समझे एग्जाम रद्द करेUGC-राहुल

नई दिल्ली
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने परीक्षाओं को लेकर यूनिवर्सिटी ग्रांट कमिशन (UGC) की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बीच एग्जाम कराना बहुत ही गलत होगा। कांग्रेस नेता ने एग्जाम को कैंसल कर छात्रों को उनके पिछले प्रदर्शन के आधार पर प्रमोट करने की मांग की है।

राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट किया, 'कोविड-19 महामारी के बीच एग्जाम कराना बहुत ही गलत है। यूजीसी को छात्रों और शिक्षाविदों की आवाज सुननी चाहिए। परीक्षाओं को कैंसल कर देना चाहिए और स्टूडेंट्स को उनके पिछले प्रदर्शन के आधार पर प्रमोट कर दिया जाना चाहिए।'

कांग्रेस नेता ने ट्वीट के साथ अपना एक छोटा सा वीडियो संदेश भी जारी किया, जिसमें उन्होंने यूजीसी पर भ्रम पैदा करने का आरोप लगाया।

कोविड ने बहुत लोगों को नुकसान पहुंचाया। हमारे जो स्टूडेंट हैं स्कूलों में, कॉलेजों में, यूनिवर्सिटीज में..उन्हें बहुत कष्ट सहना पड़ा। आईआईटीज और कॉलेजों ने एग्जाम कैंसल करके बच्चों को प्रमोट किया है। यूजीसी कन्फ्यूजन क्रिएट कर रही है। उसे भी एग्जाम कैंसल करके पिछले प्रदर्शन के आधार पर बच्चों को प्रमोट करना चाहिए।

बता दें कि एचआरडी मिनिस्ट्री ने सोमवार को ऐलान किया था कि यूनिवर्सिटीज में फाइनल इयर के एग्जाम सितंबर के आखिर में कराए जाएंगे। ये एग्जाम जुलाई में होने थे लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से उन्हें सितंबर के आखिर तक के लिए टाल दिया गया है। हालांकि, यूजीसी की नई गाइडलाइंस के मुताबिक सितंबर में फाइनल इयर एग्जाम में हिस्सा न लेने वाले स्टूडेंट्स को एक अन्य मौका मिलेगा और यूनिवर्सिटीज उनके लिए स्पेशल एग्जाम कराएंगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close