बिहारराज्य

विधानसभा चुनाव: बिहार में 300 km एनएच पर होगा काम शुरू, पटना सहित पूरे राज्य को होगा लाभ

पटना
विधानसभा चुनाव के पहले बिहार की कई अहम सड़कों पर काम शुरू हो जाएगा। लगभग 300 किमी से अधिक लंबाई की सड़कों का निर्माण कार्य शुरू करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने मिशन-100 के तहत काम शुरू कर दिया है। इन सड़कों का टेंडर जारी हो चुका है। एनएचएआई की कोशिश है चुनाव के पहले टेंडर का निपटारा हो जाए, ताकि सड़कों के निर्माण का काम शुरू हो सके। राज्य की जिन अहम सड़कों पर काम शुरू होगा उसमें पटना रिंग रोड की एक सड़क के अलावा तीन अहम सड़कें शामिल हैं। एनएचएआई के अधिकारियों के अनुसार नरेनपुर-पूर्णिया सड़क का निर्माण कार्य लंबे समय से बाधित था। लगभग 49 किलोमीटर लंबी इस सड़क का निर्माण कार्य शुरू करने के लिए टेंडर जारी हो गया है। वहीं, दक्षिण बिहार की अहम सड़क आरा-मोहनियां की स्थिति भी खराब है। लगभग 105 किलोमीटर लंबी इस सड़क के दुरुस्त नहीं होने से शाहाबाद के अधिकतर जिलों में जाम की समस्या हो रही है। साथ ही, दुर्घटनाओं में भी वृद्धि हो गई है। इसका भी टेंडर जारी हो चुका है। वहीं, बख्तियारपुर-रजौली सड़क का भी काम शुरू होगा। 101 किमी लंबी इस सड़क का टेंडर भी जारी हो चुका है। 

राज्य की अहम परियोजनाओं में से एक पटना रिंग रोड परियोजना पर भी काम शुरू करने की तैयारी है। बिहटा के नजदीक कन्हौली-रामनगर सड़क का टेंडर जारी हो चुका है। लगभग 38 किलोमीटर लंबी यह सड़क रिंग रोड परियोजना की पहली सड़क होगी जिस पर काम शुरू होगा। कन्हौली से यही सड़क शेरपुर होते हुए दीघवारा के बीच बनने वाली चार लेन पुल से जुड़ेगी। एनएचएआई टेंडर के बाद नियमानुसार एजेंसी के चयन की प्रक्रिया में जुटी है। एनएचएआई के क्षेत्रीय अधिकारी चंदन वत्स ने कहा कि विस चुनाव के मद्देनजर कोशिश है कि आचार संहिता लगने के पहले एजेंसियों का चयन हो जाए, ताकि इन सभी सड़कों पर निर्माण कार्य शुरू हो सके। सड़कों के बन जाने से न केवल बिहार बल्कि पड़ोसी राज्यों में भी आना-जाना आसान हो जाएगा। मसलन, आरा-मोहनियां सड़क निर्माण होने से बिहार और यूपी के बीच सफर और सुगम हो जाएगा, जबकि बख्तियारपुर रजौली सड़क बनने से बिहार-झारखंड के बीच सफर आसान होगा। नरेनपुर-पूर्णिया सड़क के बनने से सीमांचल के इलाके को अधिक लाभ होगा। वहीं, पटना रिंग रोड का काम शुरू होने से राजधानी में ट्रैफिक का दबाव कम होगा और राज्य के किसी भी कोने से राजधानी आने वालों को आसानी होगी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close