राजनीतिक

शिबू सोरेन और दीपक प्रकाश भी पहुंचे राज्यसभा

रांची
झारखंड में राज्यसभा की दो सीटों के लिए शुक्रवार को हुए मतदान और मतगणना के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) प्रत्याशी शिबू सोरेन और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रत्याशी दीपक प्रकाश विजयी घोषित हुए।

बीजेपी के दीपक प्रकाश को प्रथम वरीयता के सबसे अधिक 31 मत मिले, वहीं जेएमएम के शिबू सोरेन को 30 वोट और कांग्रेस के शहजादा अनवर को प्रथम वरीयता के 18 मत मिले। इसके साथ ही भारत निर्वाचन आयोग से स्वीकृति मिलने के बाद निर्वाची पदाधिकारी ने शिबू सोरेन और दीपक प्रकाश के निर्वाचित होने की घोषणा की।

अप्रत्याशित रूप से बीजेपी को मिले सबसे अधिक वोट
राज्यसभा चुनाव में अप्रत्याशित रूप से बीजेपी प्रत्याशी को 31 वोट मिले, वहीं जबकि जेएमएम को भी पार्टी विधायकों के सदस्य संख्या से एक वोट अधिक मिले, जबकि कांग्रेस प्रत्याशी को अनुमान से कम वोट मिलें।

सभी 79 वोट रहे वैध
राज्यसभा चुनाव के लिए 79 मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करने का मौका मिला था। शाम 5 बजे मतगणना शुरू होने के बाद निर्वाची पदाधिकारी की ओर से बताया गया कि सभी मत वैध रहे। 82 सदस्यीय झारखंड विधानसभा की इस समय सदस्य संख्या 80 है , इसमें से एक आंग्ल इंडियन समुदाय के मनोनीत सदस्य है, लेकिन उन्हें राज्यसभा चुनाव में वोटिंग का अधिकार नहीं है। इस प्रकार कुल 79 विधायकों को ही ही राज्यसभा चुनाव में वोट डालने का अधिकार मिला था।

निर्धारित समय से पहले सभी मतदाताओं ने डाले वोट
इससे पहले शुक्रवार सुबह नौ बजे से विधानसभा परिसर में बनाये गये मतदान केंद्र में राज्यसभा चुनाव के लिए वोटिंग शुरू हुई । राज्यसभा चुनाव के लिए अपराह्न चार बजे तक वोट डालने का समय निर्धारित था लेकिन इसके पहले ही सभी 79 मतदाताओं ने अपने अपने वोट डाले।

पुलिस कस्टडी में वोट देने पहुंचे ढुल्लू महतो
पुलिस कस्टडी में धनबाद मंडल कारा से आए बीजेपी विधायक ढुल्लू महतो ने भी मतदान किया। मतदान के बाद विधानसभा में विपक्ष के लाॅबी में बैठकर ढुल्लू महतो ने कुछ देर के लिए पार्टी नेताओं के साथ चर्चा भी की। बाद में अदालत के आदेश के मुताबिक उन्हें पुलिस कस्टडी में ही वापस धनबाद मंडल कारा ले जाया गया।

सबसे पहले जेएमएम के भूषण तिर्की ने वोट किया
राज्यसभा चुनाव के लिए सबसे पहले जेएमएम के भूषण तिर्की ने बाद डाले थे, वहीं सबसे अंतिम में वोट डालने वाले निर्दलीय विधायक सरयू राय शामिल थे। अपने मताधिकार का प्रयोग कर बाहर निकले जमशेदपुर पूर्वी से निर्वाचित निर्दलीय विधायक सरयू राय ने कहा उन्होंने बीजेपी और जेएमएम दोनों उम्मीदवारों को प्रथम तथा द्वितीय वरीयता का मत दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को अपना उम्मीदवार उतारने का कोई औचित्य नहीं था।

कोरोना संक्रमण को लेकर की गयी थी विशेष व्यवस्था
कोरोना को ध्यान में रखते हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और संक्रमण से बचाव की पूरी व्यवस्था की गई थी। मतदान को लेकर विधानसभा परिसर में दो बूथ बनाये गये थे, एक बूथ सामान्य है, जबकि दूसरा बूथ कोरोना या कोरोना संदिग्ध मरीजों के लिए है। बूथ पर सैनिटाइजर और मास्क की भी व्यवस्था की गयी। मतदान के लिए पहुंचने वाले सभी सदस्यों के हाथ को पहले सैनिटाइज किया गया। सभी मतदाताओं के लिए अलग-अलग पेन की व्यवस्था की गयी थी, ताकि संक्रमण के फैलाव की आशंका को दूर किया जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close