भोपालमध्यप्रदेश

सरकार बदलने का असर IPS अफसरों पर, उपचुनाव वाले जिलों के SP भी बदले

भोपाल
सरकार बदलने का असर कुछ आईपीएस अफसरों पर साफ दिखाई दिया। पांच महीने में ही इन अफसरों को जिलों से हटा दिया गया है। इसमें देवास एसपी कृष्णावेनी देसावाजू, सिंगरौली एसपी टीके विद्यार्थी, बैतूल एसपी धर्मेंद्र भदौरिया, बुरहानपुर एसपी भगत सिंह बिरते, सीधी एसपी आरएस  बैलवंशी की पदस्थापना 20 फरवरी 2020 को कमलनाथ सरकार के दौरान जिलों में की गई थी। अब भाजपा की सरकार बनते ही इन अफसरों को जिलों से हटा दिया गया है। पांचों अफसरों को लूप लाइन कही जाने वाली पोस्टिंग दी गई है। इसमें से देसावातू को पीटीएस उज्जैन का एसपी बनाया गया है। वहीं विद्यार्थी,भदौरिया, बिरदे और बेलवंशी को पुलिस मुख्यालय में बतौर एआईजी पदस्थ किया गया है।

सरकार ने विधानसभा के उपचुनाव वाले कुछ जिलों के एसपी भी बदले हैं। सागर जिले की सुरखी विधानसभा में उपचुनाव है, यहां पर एसपी अमित सांघी को हटाकर प्रशांत खरे को भेजा गया है। वहीं अनूपपुर विधानसभा में भी उपचुनाव है। यहां की एसपी किरणलता केरकेट्टा को हटाया गया है। देवास की हाटपिपल्या विधानसभा में उपचुनाव हैं, यहां से कुष्णावैनी देवासूत को हटाकर शिवदयाल को भेजा गया है। इसी तरह मुरैना जिले में भी उपचुनाव होना है, यहां के एसपी डॉ. असित यादव को हटाकर अनुराग सुजानिया को कमान दी गई है।

सचिन अतुलकर का डेढ़ महीने में तीन बार तबादला हुआ। उन्हें उज्जैन एसपी से बतौर एआईजी पुलिस मुख्यालय भेजा गया था। बाद में उन्हें डीजीपी का स्टॉफ आॅफिसर बनाया गया। यहां से अब उन्हें सातवीं बटालियन का चार्ज दिया गया। इसी तरह खंडवा एसपी से कोरोना को लेकर हटाए गए शिवदयाल को मई में सातवीं बटालियन की कमान दी गई थी, अब एक महीने बाद उन्हें देवास जिले की कमान दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close