बिज़नेस

सेंसेक्स 187 अंक बढ़कर 36,674 अंक पर

मुंबई
 शेयर बाजारों में मंगलवार को लगातार पांचवें कारोबारी सत्र मे तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी दोनों बढ़त के साथ बंद हुए। वित्तीय कंपनियों के शेयरों में लिवाली से बाजार में तेजी रही। निवेशक देश में कोविड-19 मामलों में वृद्धि पर ध्यान देने के बजाए बेहतर मानसून जैसी सकारात्मक बातों पर पर गौर कर रहे हैं।उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स मंगलवार को 187.24 अंक यानी 0.51 प्रतिशत मजबूत होकर 36,674.52 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 36 अंक यानी 0.33 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,799.65 अंक पर बंद हुआ।सेंसेक्स के शेयरों में बजाज फाइनेंस सर्वाधिक लाभ में रहा। इसमें करीब 8 प्रतिशत की तेजी आयी। इसके अलावा इंडसइंड बैंक, बजाज फिनसर्व, इन्फोसिस, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और एचसीएल टेक में भी तेजी रही।दूसरी तरफ एनटीपीसी, आईटीसी, पावरग्रिड और टाटा स्टील के शेयर नुकसान में रहे।एलकेपी सिक्युरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘‘…वित्तीय कंपनियों के शेयरों की अगुवाई में बाजार में तेजी आयी है।

बेहतर मानसून से भी अच्छा माहौल बना है। वाहनों के कल-पुर्जे बनाने वाली और कृषि उपकरण बनाने जैसी कंपनियां उत्साहित हैं। इसको देखते हुए निवेशकों की भागीदारी बढ़ी है।’’विश्लेषकों के अनुसार भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव कम होने से भी बाजार पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। कारोबारियों के अनुसार घरेलू निवेशकों ने वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख को महत्व नहीं दिया और लगातार विदेशी पूंजी प्रवाह जैसी सकारात्मक बातों पर ध्यान दिया है।शेयर बाजार के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़े के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक सोमवार को पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार रहे और 348.35 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। हालांकि, विशेषज्ञों ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए आगाह किया है। उनका कहना है कि इससे निवेशकों की धारणा पर असर पड़ सकता है।स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार देश में कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की संख्या बढ़कर 7,19,665 पर पहुंच गयी जबकि 20,160 लोगों की मौत हो चुकी है।

वैश्विक स्तर पर संक्रमित मामलों की संख्या 1.16 करोड़ पर पहुंच गयी है जबकि 5.38 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।दुनिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ जबकि हांगकांग में गिरावट रही। जापान के तोक्यो और दक्षिण कोरिया के सोल बाजारों में भी गिरावट दर्ज की गयी।शुरूआती कारोबार में यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में भी गिरावट का रुख रहा। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड वायदा का भाव 1.02 प्रतिशत घटकर 42.66 डॉलर प्रति बैरल रहा।वहीं, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 25 पैसे टूटकर 74.93 पर बंद हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close