देश

हर हफ्ते सोमवार को सबसे कम और शनिवार को सबसे ज्यादा दर्ज हो रहे हैं नए कोरोना केस

 
चेन्नई 

भारत में हर दिन नए Covid-19 केसों के ग्राफ को लेकर एक खास बात नोट की जा सकती है. हर सोमवार को केसों में गिरावट दिखती प्रतीत होती है. इसके बाद ये पूरे हफ्ते हर दिन बढ़ती रहती है और अगला सोमवार आने पर फिर इसमें गिरावट दिखती है.

महामारी जैसे-जैसे अधिक फैलती है, हर दिन नए केसों की संख्या बढ़ती जाती है. अगर सिर्फ सोमवार की बात की जाए तो इस दिन आने वाले नए केसों की संख्या भी पिछले सोमवार की तुलना में बढ़ रही है लेकिन फिर भी ये हफ्ते के बाकी किसी भी दिन से कम रहती है.
 

डेटा दिखाता है कि हफ्ते के दिनों में शनिवार को सबसे अधिक नए केस रिपोर्ट हो रहे हैं. औसतन हर शनिवार को हर सोमवार की तुलना में 800 अधिक केस दर्ज हुए हैं. महामारी की शुरुआत के बाद से, शनिवारों को कुल 68,776 नए केस दर्ज किए गए हैं यानि औसतन हर शनिवार को 3,275 केस. इसकी तुलना में इसी अवधि में सोमवारों को कुल 49,422 केस दर्ज किए गए. औसतन हर सोमवार 2,471 केस.

सोमवार को गिरावट की वजह?
टेस्टिंग डेटा एक समान ट्रेंड दिखाता है, जिससे संभावित तथ्य से यह वजह उभरती है कि रविवार को बहुत कम टेस्ट किए जाते हैं, और नतीजे आने में 24-48 घंटे लगते हैं. लेकिन यह टेस्ट के लिए बताई गई तारीखों की सटीकता पर भी सवाल उठाता है. साथ ही उस संभावित बैकलॉग पर भी जो सोमवार तक पूरा कर लिया जाना चाहिए.

सोमवार के आंकड़ों से पता चलता है कि हर रविवार को अधिकतर राज्य कम टेस्टिंग करते हैं. हालांकि अधिकतर राज्य अब हर दिन अधिक टेस्टिंग कर रहे हैं. फिर भी वे सोमवार के आंकड़ों में छोटी गिरावट देखते हैं. हालांकि वो हफ्ते के बाकी दिनों में इसे पूरा कर लेते हैं

क्या हैं सर्वाधिक प्रभावित तीन राज्यों के आंकड़े
आइए भारत के तीन सबसे अधिक प्रभावित राज्यों- महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु का उदाहरण लें. 15 जून (सोमवार) के आंकड़ों से पता चलता है कि तीन राज्यों ने हफ्ते के इस दिन सबसे कम टेस्ट किए. महाराष्ट्र ने 11,867, दिल्ली ने 6,105 और तमिलनाडु ने 18,403 टेस्ट इस तारीख को किए.

इत्तेफाक से 20 जून (शनिवार) का डेटा दिखता है इन्हीं तीनों राज्यों ने हफ्ते के बाकी दिनों से सबसे ज्यादा टेस्ट किए. महाराष्ट्र ने 19,212, दिल्ली ने 17,533 और तमिलनाडु ने 33,231 लोगों के टेस्ट इस दिन किए.

अन्य देशों में भी ऐसा ही ट्रेंड
अन्य देशों में भी ऐसा ही ट्रेंड है. मिसाल के तौर पर न्यूयॉर्क सिटी में हर रविवार को केसों की संख्या में गिरावट होती है और सोमवार को बढ़ जाती है. न्यूयॉर्क सिटी में हर सोमवार को अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या भी बढ़ती है.
ये संकेत है कि या तो रविवार की रिपोर्टिंग देर से होती है या फिर लोगों को भर्ती के लिए सोमवार तक का इंतजार करना पड़ता है. दुर्भाग्य से, ऐसा डेटा अभी तक भारत के लिए उपलब्ध नहीं है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close