क्रिकेटखेल

2019 WC के इन 3 खिलाड़ियों को 2003 की वर्ल्ड कप टीम में रखते सौरव गांगुली

 नई दिल्ली 
कागजों पर 2003 की भारतीय क्रिकेट टीम उतनी ही मजबूत थी, जितनी 2019 के विश्व कप में। हालांकि, दोनों ही टीमें वर्ल्ड कप खिताब नहीं जीत पाई। हाल ही में एक फैन ने जब सौरव गांगुली से पूछा कि 2019 की विश्व कप टीम से कौन से तीन खिलाड़ियों को 2003 की टीम में शामिल करना चाहेंगे? तो इस पर गांगुली ने विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह का नाम लिया। 
सौरव गांगुली के नेतृत्व में उस समय टीम में वीरेंद्र सहवाग, सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ थे। 2019 में विराट कोहली के नेतृत्व में शिखर धवन, रोहित शर्मा, खुद कोहली टॉप आर्डर में थे। 2003 के वर्ल्ड कप में गांगुली का पेस डिपार्टमेंट ज्यादा मजबूत था। जहीर खान, अजित आगरकर, जवागल श्रीनाथ टीम में थे। जबकि विराट कोहली के पास 2019 के वर्ल्ड कप में जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और शमी तेज गेंदबाज थे। 

 स्पिनर के रूप में सौरव गांगुली के पास हरभजन सिंह और अनिल कुंबले थे, जबकि कोहली के पास यजुवेंद्र चहल, कुलदीप यादव और रविंद्र जडेजा थे। 2003 में भारत वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच गया था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया से हार गया। 2019 में भारत वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचा और न्यूजीलैंड से हार गया। लेकिन यदि दोनों टीमों के कप्तानों को एक-दूसरे की टीम से कोई खिलाड़ी चुनने का विकल्प दिया जाए तो वे किसे चुनेंगे?

एक फैन ने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली से कुछ ऐसा ही सवाल पूछा। फैन ने सौरव गांगुली से पूछा कि अगर उन्हें 2019 की वर्ल्ड कप टीम में से तीन खिलाड़ियों को चुनना हो, जिन्हें वह 2003 की वर्ल्ड कप टीम में शामिल करना चाहेंगे तो वो कौन होंगे? भारतीय क्रिकेटर मयंक अग्रवाल ऑनलाइन शो 'दादा ओपन विद मयंक' पर सौरव गांगुली से बात कर रहे थे।

 इस सवाल का जवाब देते हुए सौरव गांगुली ने विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह का नाम लिया। उन्होंने कहा, ''बुमराह बेहतरीन गेंदबाज हैं, हम दक्षिण अफ्रीका में वर्ल्ड कप खेल रहे थे। रोहित की ओपनिंग के लिए मैं नंबर तीन पर बल्लेबाजी करता। पता नहीं सहवाग यह सुन रहे हैं या नहीं, लेकिन कल मैं उनसे इस बारे में पूछूंगा। लेकिन मैं इन्हीं तीन खिलाड़ियों को अपनी टीम में रखना चाहूंगा।''

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close